मुख्यमंत्री शिवराज ने कोरोना को हराने जनता को दी यह बड़ी जिम्मेदारी

CM
CM

भोपाल डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना से बचने के लिए जनता को एक बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। उन्होंने कहा है कि जनता यदि खुद ही ठान तो पूरे प्रदेश से कोरोना खतम हो जाऐ। कोरोना को हराने के लिए हर व्यक्ति को जागरूक होना जरूरी है।

ऑक्सीजन की उपलब्ध्ता बढ़ी, सीएम बोले, थोड़ी लेट होती है तो सांसे मेरी थमने लगती हैं

मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के कोरोना वालंटियर के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बातचीत की ।उन्होंने वालंटियर से कहा कि मैं आप लोगों को एक नई जिम्मेदारी दे रहा हूं और वह जिम्मेदारी यह है कि हम लोगों से अपील करें कि जनता खुद जनता कर्फ्यू लगाए। अपने वार्ड में, अपने गांव में ऐसा माहौल बना दें जिससे प्रदेश को कोरोना मुक्त करने के लिए जनता खड़ी हो जाए यानी साफ तौर पर परिस्थितियों के आधार पर किसी वार्ड या कॉलोनी या मोहल्ले के लोगों को यह तय करना है कि वह किस तरह से कोरोना को रोकने के लिए उठ खड़े हो जाए और जहां ऐसी परिस्थितियां हैं कि कोरोना संक्रमण फैल सकता है वहां खुद ही कर्फ्यू लगा दे ।उन्होंने कहा कि जागरूकता के माध्यम से हमें लोगों को जागरूक भी करना है और मेरा स्वास्थ्य आग्रह इसीलिए था कि जब तक समाज का हर व्यक्ति यह बात नहीं समझेगा तब तक हमको कोरोना से लड़ाई में विजयी नहीं होंगे।

नेताओं पर कोरोना का कहर: अब कैबिनेट मंत्री की रिपोर्ट पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी

मुख्यमंत्री  ने यह भी कहा कि हम इस समय तीन स्तर पर लड़ाई लड़ रहे हैं। पहली अस्पताल में बिस्तरों की संख्या बढ़ाना, ऑक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाना, सामान्य लक्षण वाले व्यक्तियों के लिए हम कोविड सेंटर हर जिले में बना रहे हैं साथ ही रेमेडीसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता सुनिश्चित कर रहे हैं ।

दमोह उपचुनाव: कोरोना को दावत! कमलनाथ का मेगा रोड शो, जमकर जुटाई भीड़

मुख्यमंत्री  ने हजारों कोरोना वालंटियर की उपस्थिति पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि मैंने सपना देखा था कि कोरोनाव के खिलाफ जंग केवल प्रशासन के साथ नहीं लड़ी जा सकती ।इसमें जनता का सहयोग बहुत जरूरी है। दरअसल एक सप्ताह पहले मुख्यमंत्री ने यह अभियान शुरू किया था और इसके तहत अब तक 72000 कोरोना वालंटियर पूरे प्रदेश में जुड़ चुके हैं ।यह लोग लोगों को रोको टोको अभियान के तहत मास्क का वितरण कर रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग रखने पर जोर दे रहे हैं। साथ ही साथ घर-घर जाकर लोगों को वैक्सीनेशन के लिए भी प्रेरित कर रहे हैं ।ऐसे बुजुर्ग जो आने जाने में असमर्थ हैं, उनको घर से लाने और घर पहुंचाने का काम भी किया जा रहा है और उन्हें वैक्सीन लगवाई जा रही है। ये वॉलिंटियर बाजारों में भीड़ को नियंत्रित करने का काम भी कर रहे हैं ।रतलाम के कोरोना वालंटियर कोरोना के डर को भगाने के लिए भर्ती मरीजों का मोटिवेशन कर रहे हैं।