आखिर क्यों अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर लिखा- “खेल खतम, पैसा हजम”

Amitabh Bachchan tweets again for Twitter : सदी के महानायक अमिताभ बच्चन वैसे तो अपनी गंभीर अदायगी और पर्सनेल्टी के लिए जाने जाते हैं लेकिन पिछले कुछ दिनों से उनका मजाकिया और मसखरी करने का अंदाज उनके फैन्स को बहुत भा रहा है। जब से ट्विटर पर ब्लू टिक का मसला शुरू हुआ है अमिताभ बच्चन लगातार ट्वीट कर रहे हैं, खास बात ये है कि वे ये ट्वीट ना तो अंग्रेजी में कर रहे हैं और ना ही हिंदी में बल्कि वे इसे उनके जन्म क्षेत्र इहालाबाद और उसके आसपास बोली जाने वाली स्थानीय भाषा में कर रहे हैं जिसे देश की जनता बहुत पसंद कर रही है।

ब्लू टिक हटने के बाद सचिन को ऐसे अपने फैन्स को दिलाना पड़ा भरोसा 

ट्विटर के मालिक एलन मस्क ने पिछले दिनों बहुत से लोगों के ब्लू टिक हटा दिए तो खासकर भारत में इसका खासा असर दिखाई दिया, कई सेलेब्रिटी बिना ब्लू टिक के हो गए यानि उनका ट्विटर एकाउंट अन वेरिफाइड की श्रेणी में हो गया, अपने एक प्रशंसक को भरोसा दिलाने के लिए क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने अपनी फोटो खींचते हुए उस पर हाथ से स्माइली बनाते हुए तस्वीर डाली और कहा कि ये मेरा ही एकाउंट है भेल ही इसमें ब्लू टिक नहीं है तो क्या हुआ।

अमिताभ बच्चन ने ट्विटर से अपने अंदाज में की रिक्वेस्ट 

महानायक अमिताभ बच्चन ने 21 अप्रैल को ट्विटर भईया संबोधित करते हुए ट्वीट किया – ए twitter भइया ! सुन रहे हैं ? अब तो पैसा भी भर दिये हैं हम … तो उ जो नील कमल होत है ना, हमार नाम के आगे, उ तो वापस लगाय दें भैया , ताकि लोग जान जायें की हम ही हैं – Amitabh Bachchan .. हाथ तो जोड़ लिये रहे हम । अब का, गोड़वा जोड़े पड़ी का ??

ब्लू टिक वापस मिला तो महानायक ने ऐसे किया रिएक्ट 

अमिताभ के ट्वीट के कुछ घंटों बाद ही उनके एकाउंट पर ब्लू टिक वापस आ गया तो उन्होंने 22 अप्रैल को फिर उसी अंदाज में ट्वीट किया – ए Musk भैया ! बहुत बहुत धन्यवाद देत हैं हम आपका ! उ , नील कमल लग गवा हमार नाम के आगे ! अब का बताई भैया ! गाना गये का मन करत है हमार ! सनबो का ? इ लेओ सुना : “तू चीज़ बड़ी है musk musk … तू चीज़ बड़ी है, musk “

अब अमिताभ ने लिखा- खेल खतम, पैसा हजम 

इसके बाद अमिताभ बच्चन ने अपनी स्थानीय भाषा में और भी कई ट्वीट किये जिनकी चर्चा देशभर में उनके फैन्स कर रहे हैं , अमिताभ ने अब एक और ट्वीट किया – अरे मारे गये गुलफाम , बिरज में मारे गये गुलफाम ए ! Twitter मौसी, चाची, बहनी, ताई, बुआ .. झौआ भर के त नाम हैं तुम्हार ! पैसे भरवा लियो हमार, नील कमल ख़ातिर अब कहत हो जेकर 1 m follower उनकर नील कमल free म हमार तो 48.4 m हैं , अब ?? खेल खतम, पैसा हजम ?!

 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News