कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, सेवानिवृत्ति आयु में 2 वर्ष की वृद्धि, 60 से बढ़कर हुई 62, CM ने दी मंजूरी

साथ ही उन्हें शासकीय कर्मचारियों की तरह अन्य लाभ मौजूद होंगे। जिसका लाभ लाखों कर्मचारियों को मिलेगा।

government employees news
DEMO PIC

विजयवाड़ा, डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश सरकार (State Government) ने अपने कर्मचारियों (Employees) को बड़ी राहत दी है। दरअसल एक बार फिर से उनकी सेवानिवृत्ति उम्र (Retirement age) को बढ़ाया गया है। रिटायरमेंट उम्र में 2 साल की वृद्धि करने के साथ ही अब कर्मचारी 62 वर्ष तक सेवा देने की पात्रता रखेंगे। 62 वर्ष के बाद उन्हें सेवानिवृत्ति का लाभ दिया जाएगा। इसके लिए मुख्यमंत्री (CM) ने आयु सीमा 60 से बढ़ाकर 62 वर्ष करने को मंजूरी दे दी है।

दरअसल मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने जिला पुस्तकालय और सहायता प्राप्त शिक्षक कर्मचारी की सेवानिवृति आयु 60 से बढ़ाकर 62 वर्ष करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। मामले में आंध्र प्रदेश सरकारी कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष काकरला वैकेटरामी रेड्डी ने कहा कि सीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। आगामी कैबिनेट बैठक से पहले प्रस्ताव तैयार किया जाएगा। मंत्री परिषद की मंजूरी मिलने के साथ ही इसे जारी कर दिया।

बता दे कि सरकार द्वारा 1 जनवरी 2022 को शासकीय कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु को 60 वर्ष से बढ़ाकर 62 वर्ष करने के आदेश जारी किए गए थे। जिसके बाद सहायता प्राप्त शिक्षक विश्वविद्यालय समिति और कई निगम के कर्मचारी सहित जिला पुस्तकालय कर्मचारियों ने भी सरकार से सेवानिवृत्ति आयु शासकीय कर्मचारियों के बराबर 62 वर्ष करने की अपील की थी। जिसे अब मान्य कर लिया गया है।

Read More : MP Police Recruitment : नियम में बदलाव की तैयारी, PHQ को भेजा गया प्रस्ताव, उम्मीदवारों को मिल सकता है बड़ा लाभ

इससे पहले 1 जनवरी 2022 से प्रदेश के शासकीय कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु को बढ़ाकर 62 वर्ष कर दिया गया। बता दें कि 8 साल से कम समय में सरकार द्वारा कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति उम्र में 4 साल की भारी वृद्धि की गई है। पिछली बार चंद्रबाबू नायडू सरकार ने जून 2014 में कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु 58 वर्ष से बढ़ाकर 60 वर्ष कर दिया था। तब प्रदेश में शासकीय कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु 58 वर्ष हुआ करती थी।

2 वर्ष की सेवानिवृत्ति आयु वृद्धि के बाद मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने अपनी सेवा में 2 और वर्ष की वृद्धि की थी। सरकार ने इस साल की शुरुआत में रिटायरमेंट सीमा को 60 वर्ष से बढ़ाकर 62 वर्ष कर दिया था जबकि मध्यप्रदेश में राज्य के कर्मचारी 62 की उम्र पर सेवानिवृत्त हो रहे हैं। वही केंद्र सरकार के कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु अभी 60 वर्ष रखी गई है। तेलंगना के पड़ोसी राज्यों की बात करें तो कर्नाटक में सेवानिवृत्ति आयु 60 वर्ष है जबकि कई राज्यों में सेवानिवृत्ति आयु को 60 वर्ष रखा गया है।

वही अब सीएम रेड्डी के इस मंजूरी के बाद जिला पुस्तकालय और सहायता प्राप्त शिक्षकों की सेवानिवृत्ति आयु में 2 वर्ष की वृद्धि की गई है 2 वर्ष तक अपनी सेवा जारी रख सकेंगे। इसके साथ ही उन्हें शासकीय कर्मचारियों की तरह अन्य लाभ मौजूद होंगे। जिसका लाभ लाखों कर्मचारियों को मिलेगा।