Father’s Day 2023: पापा के साथ रिश्ते में आ गई हैं दूरियां, तो इन टिप्स से रिलेशन बनेगा प्यार और विश्वास से भरपूर

Sanjucta Pandit
Published on -

Father’s Day 2023 : पिता और बच्चों के बीच एक विशेष और गहरा रिश्ता होता है। बचपन में बच्चा अपने पापा के बहुत करीब होता है और पापा भी अपने बच्चों को लाड़-प्यार से पालते हैं। बच्चे अक्सर अपने पिता को अपने रोल मॉडल के रूप में देखते हैं और उनके जैसे बनने की इच्छा रखते हैं। हालांकि, जब युवावस्था की दहलीज पार करते हैं तो बच्चे अपने सपनों और विचारों में विभिन्न हो सकते हैं जो पिता से अलग हो जाते हैं। जिसके कारण, इस रिश्ते में दूरियां पैदा हो जाती है। तो चलिए आज के आर्टिकल में हम आपको फादर्स डे (Father’s Day) के अवसर पर अपने पिता के प्रति स्नेह, सम्मान और आभार व्यक्त करने के आसान से टिप्स बताते हैं, जिससे आपके रिश्ते में सुधार आए और आपके रिश्ते की डोर मजबूत हो सके…

Father's Day 2023: पापा के साथ रिश्ते में आ गई हैं दूरियां, तो इन टिप्स से रिलेशन बनेगा प्यार और विश्वास से भरपूर

सबसे पहले हम आपको यह बता दें कि फादर्स डे जून महीने के तीसरे रविवार को मनाया जाता है। वहीं, इस बार यह खास दिन 18 जून को मनाया जाएगा। तो आइए जानें वो टिप्स जिससे आपके जीवन में भर जाएगी बेसुमार खुशियां…

पिता के साथ मतभेद के कारण

जनरेशन गैप और माता-पिता के स्वभाव के बीच अनबन के कारण संभवतः अनेक हो सकते हैं। दरअसल, जब उम्र का अंतर होता है तो अनुभव और सोच में विभिन्नताएं हो सकती हैं जो कि अक्सर दूरी पैदा कर देती है। इसके बावजूद, एक समझदारी और संवेदनशील ढंग से संवाद करके इस दूरी को कम किया जा सकता है। बता दें कि पिता का सख्त व्यवहार बेटे को सही राह दिखाने का प्रयास होता है लेकिन कभी-कभी यह उनके बीच संघर्ष पैदा कर जाता है। जिस कारण बेटा अपने मन की भावनाओं को पिता के सामने प्रकट नहीं कर पाता और अपने पिता से दूर होने लगता है।

अच्छे दोस्त बनें

आप अपने पापा के अच्छे दोस्त बनना चाहते हैं और उनकी जीवन से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें जानने की कोशिश करें। यह एक महत्वपूर्ण तरीका है जिससे आप उन्हें महसूस करवा सकते हैं कि आप उनकी जिंदगी को समझने में रुचि रखते हैं और उन्हें समर्थन करने के लिए उनके पास हैं। इससे आपके और उनके बीच का रिश्ता मजबूत होगा।

पिता की मदद करें

अपने पिता की मदद करने और उनकी तारीफ करने से उन्हें आपका समर्थन और प्यार महसूस होगा। ऐसा करने से उन्हें महसूस होगा कि आप उनकी परवाह करते हैं। इसके अलावा, आप उनकी समस्याओं का समाधान ढूंढने में मदद करें चाहे वह किसी काम से जुड़ा हो या व्यक्तिगत मुद्दों से संबंधित हो। यह आपके और उनके बीच का रिश्ता मजबूत और प्यार भरा बनाएगा।

ज्यादा वक्त बिताए

पिता के साथ ज्यादा से ज्यादा वक्त बिताए। साथ ही, उन अच्छे पलों को याद करें। जब भी आप उनके साथ बैठें तो पुराने यादें ताजगी से याद करें। इससे आपका रिश्ता और भी अधिक मजबूत होगा। साथ ही, आप एक-दूसरे के प्रति गहरी संबंध और समर्पण का अहसास करेंगे। इसके अलावा, आप एक दूसरे के साथ बातचीत का समय निकालें। जिससे दोनों अपने मन की बात कह सके और दूरी पैदा होने स्थिति ही उत्पन्न ना हो।

विचार-विमर्श करें

पेरेंट्स और बच्चों के बीच विचारों में असमंजस हो सकता है और यह बहस का कारण बन सकता है। परिवारिक विचारधारा और मान्यताओं में अंतर होना स्वाभाविक है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आपको हर मामले में सहमत होना चाहिए। ऐसी परिस्थिति में आप अपने पेरेंट्स की बातें ध्यान से सुनें और उन्हें महसूस करने की कोशिश करें। उनके विचारों को समझें, उनकी दृष्टिकोण समझें और उनकी दिशा में सोचने का प्रयास करें। समझने की कोशिश करें कि उन्हें क्या परेशान कर रहा है और वह आपसे क्या चाहते हैं। इसके साथ ही, अपनी बात को प्यार से समझाएं।


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News