MPसीएम शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। केन्द्र और राज्य सरकार (MP Government) की लाख सख्ती और संडे टोटल लॉकडाउन (Lockdown 2021) के बावजूद कोरोना (Coronavirus) के आंकड़े कम होने का नाम नहीं ले रहे है। दिनों दिन दूसरी लहर का असर तेज और घातक होता जा रहा है। एक बार फिर MP में 2000 से ज्यादा केस कोरोना पॉजिटिव सामने आए है और 9 की मौत हो गई। पिछले 24 घंटे में  2332 नए कोरोना पॉजिटिव सामने आए है।हालांकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लॉकडाउन लगाने से इंकार कर दिया है।

यह भी पढ़े… MPPSC : 11 अप्रैल को होने वाली परीक्षा रद्द करने की मांग, उम्मीदवारों में भारी आक्रोश

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, इंदौर में 643, भोपाल में 498 , जबलपुर में 161, खरगोन 89, उज्जैन 70, बैतूल 68 और ग्वालियर 55  नए संक्रमित मिले हैं। वही MP के 52 में से 19 जिले ऐसे हैं, जहां हर रोज 20 से अधिक केस सामने आ रहे है, वही महाराष्ट्र की सीमा से लगे शहरों में भी स्थिति गंभीर हो चली है।इधर, संक्रमण दर दूसरे दिन भी 10% से अधिक रही है।वही कई जिलों में तो अस्पतालों में बेड की कमी होने लगी है।

इन आंकड़ों को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने चिंता जताई है और कहा #COVID19 के संक्रमण को रोकने के लिए जन जागरूकता अभियान आवश्यक है।प्रदेश में केवल रविवार को ही लॉकडाउन रहेगा। सभी जिलों में कोरोना उपचार के लिए बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जाए। 15 अप्रैल तक स्कूल (School) अभी नहीं खोले जायेंगे। जिन क्षेत्रों में ज्यादा संक्रमण है, उसके बारे में भी चर्चा होगी। सभी जिलों में उपचार की समस्त सुविधाएं मिलें, इस पर भी मंथन होगा।

यह भी पढ़े.. MP Politics: कांग्रेस के पूर्व मंत्री ने दिए राजनीति छोड़ने के संकेत, चर्चाओं का बाजार गर्म

भोपाल में बेडस् की संख्या 3,985 से बढ़ाकर 6 हजार, बुरहानपुर में 98 से बढ़ाकर 285, देवास में 196 से बढ़ाकर 750, धार में 147 से बढ़ाकर 292, गुना में 196 से बढ़ाकर 250, ग्वालियर में 656 से बढ़ाकर 3 हजार, हरदा में 40 से बढ़ाकर 170, होशंगाबाद में 98 से बढ़ाकर 343, इंदौर में 4,886 से बढ़ाकर 10 हजार, जबलपुर में 1232 से बढ़ाकर 2300, झाबुआ में 98 से बढ़ाकर 2 हजार, खरगोन में 219 से बढ़ाकर 250, खंडवा में 300 से बढ़ाकर 510, मुरैना में 294 से बढ़ाकर 322, रीवा में 255 से बढ़ाकर 530, सागर में 465 से बढ़ाकर 550, शहडोल में 277 से बढ़ाकर 650, श्योपुर में 98 से बढ़ाकर 400, उज्जैन में 638 से बढ़ाकर 823 तथा विदिशा में 147 से बढ़ाकर 400 की जा रही है।

प्रदेश में वर्तमान में प्रतिदिन लगभग साढ़े तीन लाख कोरोना वैक्सीन के डोज लगाए जा रहे हैं, वहीं अब प्रतिदिन 4 लाख से अधिक कोरोना वैक्सीन के डोज लगाए जा सकेंगे। बालाघाट में अब 8 हजार, बड़वानी में 3,754, बैतूल में 8 हजार, भोपाल में 40 हजार, बुरहानपुर में 3 हजार, छिन्दवाड़ा में 10 हजार, देवास में 7,687, ग्वालियर में 25 हजार, इंदौर में 50 हजार, जबलपुर में 25 हजार, खंडवा में 6 हजार, मुरैना में 6,158, रतलाम में 5 हजार, सागर में 20 हजार, सतना में 11 हजार 300, सीहोर में 6058, शिवपुरी में 5,329, उज्जैन में 20 हजार तथा विदिशा में 4604 कोरोना वैक्सीन के डोज प्रतिदिन लगाये जा सकेंगे।

यह भी पढ़े.. Electricity Bill: MP के उपभोक्ताओं के लिए खुशखबरी, 1 अप्रैल से मिलेगी यह सुविधा

बता दे कि MP के 7 जिलों इंदौर, भोपाल, जबलपुर, रतलाम, खरगौन, बैतूल और ग्वालियर में 50 से अधिक नये प्रकरण प्रतिदिन सामने आ रहे हैं। इसी तरह जिन 11 जिलों में बीस से अधिक प्रकरण रोजाना सामने आ रहे हैं, उनमें बड़वानी, विदिशा, देवास, सागर, उज्जैन, खण्डवा, छिन्दवाड़ा, सीहोर, शाजापुर, धार और राजगढ़ शामिल हैं।

सीएम ने अधिकारियों को दिए ये निर्देश

  • अपने प्रभार के जिलों का भ्रमण कर कोरोना के उपचार एवं अन्य व्यवस्थाओं को देखें और आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित करें।
  • रोगियों की जाँच उनके उपचार और आइसोलेशन के प्रबंध, जन-जागरूकता और वैक्सीनेशन कार्यों की समीक्षा भी की जाए।
  • प्रभारी अधिकारी अपने जिले में कोरोना के नियंत्रण के लिए आवश्यक सभी व्यवस्थाओं को देखते हुए इनके क्रियान्वयन का भी निरंतर अनुश्रवण करें।
  • महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग का कार्य जारी रखा जाए।
  • प्रदेश में अधिक संक्रमण वाले नगरों में सीमित लॉकडाउन की व्यवस्था लागू रहेगी।
  • बाजारों में भीड़ पर नियंत्रण से पॉजिटिव प्रकरण भी कम हो रहे हैं। इसलिए सीमित लॉक डाउन की व्यवस्था जिन स्थानों पर आवश्यक है वहाँ जारी रखी जायेगी।
  • पूरे प्रदेश में संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करते हुए शीघ्र ही अन्य आवश्यक निर्णय लिए जाएंगे।
  • कोरोना के उपचार के लिए प्रदेश के अस्पतालों में 15 हजार से अधिक बेडस् बढ़ाए जा रहे हैं।
  • वर्तमान में प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में कोरोना के लिए सामान्य, ऑक्सीजन, एवं आईसीयू बेड की कुल संख्या 20 हजार 139 है, जिसे बढ़ाकर 35 हजार 621 किया जा रहा है।