कृषि मंत्री का बड़ा ऐलान- फिर जुड़ेंगे संबल योजना से कटे हितग्राहियों के नाम, सचिव निलंबित

वही कृषि मंत्री कहा कि शासन की लोक कल्याणकारी योजनाओं से अधिकतम लोगों को लाभान्वित किया जाना हर हाल में सुनिश्चित करना है।

कृषि मंत्री कमल पटेल

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के कृषि मंत्री (Minister of Agriculture)  कमल पटेल (Kamal Patel) ने बड़ा ऐलान किया है। कृषि मंत्री ने कहा है कि संबल योजना से काटे गए आठ सौ हितग्राहियों के नाम फिर से जुड़ेंगे। वही उन्होंने लापरवाही बरतने पर पंचायत सचिव को निलंबित करने के निर्देश दिए है।

यह भी पढ़े.. MP Unlock Guideline: 1 जून से क्या होगा अनलॉक और क्या रहेंगे प्रतिबंध, पढ़िए यहां

दरअसल, शनिवार को कृषि मंत्री  कमल पटेल ने हरदा जिले के खिरकिया विकासखंड के ग्राम पोखरनी में आयोजित शिविर में ‘ मेरा गांव – मेरा तीर्थ ‘अभियान का शुभारंभ किया और  खिरकिया विकासखंड के 800 संबल हितग्राहियों के नाम फिर से जोड़ने के निर्देश दिए। वही कृषि मंत्री कहा कि शासन की लोक कल्याणकारी योजनाओं से अधिकतम लोगों को लाभान्वित किया जाना हर हाल में सुनिश्चित करना है। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने ग्राम पंचायत के लापरवाह पंचायत सचिव सुरेश राजपूत को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के भी निर्देश दिए।

कृषि मंत्री ने कहा कि जिले के अधिकारियों कर्मचारियों के द्वारा गरीब परिवारों के घर घर जाकर उनकी समस्याओं का आकलन किया गया था। प्राप्त समस्याओं को दूर करने एवं पात्र हितग्राहियों को लाभान्वित करने के लिए ग्राम स्तर पर शिविर लगाकर लाभान्वित किया जा रहा हैं। गरीब और किसान ग्रामीण कस्बों में रहते हैं उनकी समस्याओं को दूर करना उनकी प्राथमिकता है। गरीबों की सेवा एवं किसानों की सेवा ही परमात्मा की सेवा है इसलिए उन्होंने इस अभियान का नाम ‘मेरा गांव – मेरा तीर्थ’ रखा है।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: मप्र के इन संभागों में बारिश की संभावना, 15 जून के बाद मानसून की एंट्री

कृषि मंत्री ने कहा कि इसकी निरंतर मॉनिटरिंग की जाएगी। सभी सुविधाओं का लाभ गांव में ही उपलब्ध कराया जाएगा। लापरवाही बरतने वालों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। पटेल ने पोखरनी में आयोजित शिविर में महिला बाल विकास की मुख्यमंत्री बाल कल्याण योजना के अंतर्गत दो बच्चों को लाभान्वित किया । इस योजना के तहत इन बच्चों को पाँच हजार रुपये प्रति माह शासन की ओर से दिया जाएगा एवं बच्चों की पढ़ाई लिखाई का खर्च भी शासन के द्वारा वहन किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि इन बच्चों के माता-पिता का कोरोना काल के दौरान स्वर्गवास हो गया था। इसके साथ ही मुख्यमंत्री बाल कल्याण योजना के अंतर्गत 4 हितग्राहियों को, संबल योजना के अंतर्गत 2 हितग्राहियों को, वृद्धावस्था पेंशन के 2 हितग्राहियों को, नारी सुरक्षा पेंशन अंतर्गत 2 हितग्राहियों को एवं आयुष्मान कार्ड 6 के हितग्राहियों को हितलाभ वितरित किया गया। ग्राम के 60 हितग्राहियों के नाम प्रधानमंत्री आवास मिशन अंतर्गत आवास प्लस में जोड़े गए एवं 29 हितग्राहियों को खाद्यान्न पर्ची का वितरण किया गया।