सीएम शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान- MP में 15 जून तक जारी रहेगा कर्फ्यू लेकिन..

कोरोना कर्फ्यू अभी हम समाप्त नहीं कर रहे हैं। कोरोना कर्फ्यू 15 जून तक जारी रहेगा। लेकिन कोरोना कर्फ्यू में हम छूट दे रहे हैं। सुरक्षा भी और समृद्धि भी।

CM शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। 1 जून से मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में अनलॉक (Unlock 2021) की प्रक्रिया शुरु हो रही है। हर जिले में अलग अलग अनलॉक की गाइडलाइन (Unlock Guideline 2021) जारी की जाएगी। कहां कितनी छूट मिलेगी इसको लेकर जिला क्राइसिस कमेटी फैसला लेगी, इस संबंध में देर शाम जिला कलेक्टरों द्वारा आदेश जारी हो सकते है। इसी बीच आज सोमवार 31 मई को सीएम शिवराज सिंह चौहान एक बार फिर प्रदेश की जनता को संबोधित कर रहे हैं।

यह भी पढ़े.. MP Board: कक्षा 9 वीं और 11वीं के परीक्षा परिणाम घोषित, छात्रों को मिलेंगे ये अवसर

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना से अभी लड़ाई लड़ते रहना है। इसलिए कोरोना कर्फ्यू अभी हम समाप्त नहीं कर रहे हैं। कोरोना कर्फ्यू 15 जून तक जारी रहेगा। लेकिन कोरोना कर्फ्यू में हम छूट दे रहे हैं। सुरक्षा भी और समृद्धि भी। अपनी सुरक्षा भी करना है लेकिन आर्थिक गतिविधियाँ भी आरंभ करना है, ताकि व्यापार चल सके।रोज पूरे प्रदेश में रात 10 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा। कुछ जिलों ने वहां संक्रमण की स्थिति देखकर इन प्रतिबंधों को और कड़ा किया है। वे अपने जिले की जनता को सूचना दे देंगे। ताकि वहां संक्रमण फिर से न बढ़ सके।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने  कहा कि यह लड़ाई अभी बाकी है। यह बात अलग है कि आज संतोषजनक स्थिति है। अब आने वाले केसेस घटते जा रहे हैं। लेकिन बड़ी संख्या में केसेस अभी भी हैं। कुछ जिले ऐसे हैं जहां केस घटते हैं लेकिन दूसरे दिन बढ़ भी जाते हैं।संक्रमण नियंत्रित तो किया है,लेकिन संकट अभी टला नहीं है। अभी सावधान रहना है।सिनेमा घर, शापिंग मॉल्स, व्यायामशाला, जिम, स्विमिंगपूल, थिएटर, पिकनिक स्पॉट, बार, ऑडिटोरियम, सभागृह यह सभी बंद रहेंगे। पूरे प्रदेश में शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक पूरी तरह से जनता कर्फ्यू जारी रहेगा।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: मप्र के 3 दर्जन से ज्यादा जिलों में बारिश की संभावना, ओलावृष्टि के भी आसार

सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने कहा कि ने कहा कि  क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप चाहे वे हमारे जिले के हों,हमारे ब्लॉक के हों,वार्ड या गांव के हों, उन्होंने अपने अपने यहां तय किया है कि 15 जून तक कौन सी गतिविधियां चलेंगी और कौन सी नहीं चलेंगी। लेकिन कुछ गतिविधियां ऐसी हैं जिन पर पूरे प्रदेश में प्रतिबंध रहेगा। अपनी सुरक्षा के लिए,संक्रमण को रोकने के लिए यह पाबंदिया जरूरी हैं। सभी सामाजिक, राजनैतिक, धार्मिक आयोजनों पर प्रतिबंध रहेगा। खेल की गतिविधियां, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक गतिविधियां, मेले इत्यादि पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेंगे। स्कूल-कॉलेज कोचिंग संस्थान यह भी बंद रहेंगे।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने  कहा कि सभी धार्मिक और पूजा स्‍थल चार से अधिक श्रद्धालुओं के साथ ही प्रवेश के लिए रहेंगे।अंतिम संस्‍कार में अधिकतम दस लोग शामिल होंगे।शोक कार्यक्रम में भी यही हालत रहेगी। विवाह में दोनों पक्षों के मिलाकर 20 लोग शामिल हो सकेंगे। कोरोना की तीसरी लहर की बात की जा रही है, यह तभी आयेगी, जब हम #COVID19 एप्रोप्रियेट बिहेवियर नहीं करेंगे। चिकित्सा की हम पर्याप्त व्यवस्था करेंगे, लेकिन आप भी आत्मानुशासन और संयम रखेंगे, तो तीसरी लहर को आने से रोक सकेंगे।

यह भी पढ़े.. Bank Holiday 2021: जल्द निपटा लें अपने जरुरी काम, जून में 9 दिन बंद रहेंगे बैंक

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ब्लैक फंगस नाम की बीमारी से भी हम लड़ रहे हैं। ब्लैक फंगस के जो मरीज हैं उनकी हम पूरी चिंता कर रहे हैं। एन्टी फंगस इंजेक्शन का संकट था। लेकिन अब उनकी आपूर्ति सुनिश्चित होती जा रही है। प्राइवेट अस्पतालों में भी इंजेक्शन भेजने का हम इंतेजाम कर रहे हैं। ब्लैक फंगस से निपटने में भी हम अपनी तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।मैं बच्चों के संबंध में अलग से बात करूंगा। उनकी परीक्षाएँ उनकी शिक्षा के लिए मंत्रियों का एक अलग से समूह बनाया है। उसकी क्या व्यवस्था होगी इसके बारे में मैं जल्दी ही चर्चा करूंगा। कुछ जिलों ने वहाँ संक्रमण की स्थिति देखकर इन प्रतिबंधों को और कड़ा किया है। वे अपने जिले की जनता को सूचना दे देंगे ताकि वहाँ संक्रमण फिर से न बढ़ सके।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अब तीसरी लहर की बात हो रही है। यह तीसरी लहर क्या है? यह हमारी लापरवाही और असावधानी ही है, जो तीसरी लहर को जल्दी जन्म दे देगी। लापरवाही का मतलब यही है कि हम कोविड एप्रोपिएट बिहेवियर का पालन नहीं कर रहे हैं। एक भी संक्रमित होगा तो वह दस को संक्रमित करेगा। दस, सौ को करेंगे, सौ हजार को करेंगे और संक्रमित यदि घूमते रहे तो फिर विस्फोट हो जाएगा। इसलिए तीसरी लहर से बचने में हमें भी बहुत महत्वपूर्ण योगदान देना है। हम सब आवश्यक तैयारी करेंगे। अस्पताल, ऑक्सीजन बेड, आईसीयू बेड, बच्चों के वार्ड, इस पर समानान्तर रूप से हम कार्य कर रहे हैं।

यह भी पढ़े.. NTPC Recruitment 2021: सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका, सैलरी 1 लाख पार

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अत्यावश्यक सेवाएँ देने वाले कार्यालय के अतिरिक्त शेष कार्यालय 100 प्रतिशत अधिकारी और केवल 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ संचालित हो सकेंगे। सभी धार्मिक और पूजा स्थलों में एक समय में चार से अधिक भाई-बहन नहीं जाएंगे ताकि पूजा हो सके लेकिन भीड़ न लगे। अंतिम संस्कार में अधिकतम 10 लोग सम्मिलित होंगे। मृत्यु भोज में भी 10 लोग ही सम्मिलित हो सकेंगे। विवाह में दोनों पक्षों को मिलाकर 20 लोग सम्मिलित हो सकेंगे। किसी भी एक स्थान पर एक साथ 6 लोगों से अधिक संख्या में लोग इकट्ठा नहीं होंगे। पूरे प्रदेश में शनिवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक पूरी तरह से जनता कर्फ्यू जारी रहेगा। प्रदेश में प्रतिदिन रात 10 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा।

बता दे कि मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 1205 नए केस सामने आए है और 48 ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।अब मप्र में एक्टिव केसों की संख्या घटकर 23390 हो गई है। वही 5023 मरीज कोरोना को मात देकर रिकवर हुए हैं।  प्रदेश का रिकवरी रेट 96% और पॉजिटिविटी रेट 2% से कम है। अब संक्रमण की दर 1.8 प्रतिशत से कम रह गई है। इसके बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने यह फैसला लिया है।

सम्पूर्ण प्रदेश में प्रतिबंध से मुक्त गतिविधियाँ

• समस्त प्रकार के उद्योग एवं औद्योगिक गतिविधियां

• उद्योगों में कच्चा माल / तैयार माल का आवागमन

• अस्पताल, नर्सिंग होम, क्लीनिक मेडिकल इन्श्योरेंस कम्पनीज अन्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सेवाएं पशु चिकित्सा अस्पताल

• केमिस्ट, सार्वजनिक वितरण प्रणाली की राशन दुकानें, किराना दुकानें, फल और सब्जियां, डेयरी एवं दूग्ध केन्द्र, पशु आहार की दुकानें

• पेट्रोल / डीजल पम्प / गैस स्टेशन, रसोई गैस

• मण्डी, खाद बीज / कृषि यंत्र की दुकानें एवं सभी कृषि गतिविधियाँ

• रेस्टोरेंट एवं भोजनालय (केवल टेक होम डिलेवरी के लिए)

• लॉजिंग/होटल (केवल आगन्तुकों के लिए रूम डायनिंग के साथ

• बैंक, बीमा कार्यालय एवं एटीएम

• प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया तथा केबल आपरेशन्स

• बैंक, इन्श्योरेंस, नॉन- बैंकिंग फाइनांस कम्पनियाँ, सहकारी साख समिति, कैश मेनेजमेन्ट एजेन्सीज आदि का संचालन एवं आवागमन

• इलेक्ट्रीशियन, प्लम्बर, कारपेंटर, मोटर मेकेनिक आई. टी सर्विस प्रोवाईडर आवागमन

• एम्बूलेंस, ऑक्सीजन टैंकर्स का सम्पूर्ण प्रदेश में आवागमन

• अस्पताल / नर्सिंग होम और टीकाकरण हेतु आवागमन कर रहे नागरिक/कर्मचारी

• सार्वजनिक परिवहन (निजी बसों, ट्रेनों के माध्यम से)

• सभी प्रकार के सामानों और माल की आवाजाही

• निजी सुरक्षा सेवाये

• घरेलू सेवा देने वाले यथा धोबी, ड्रायवर, हाऊस हेल्प/मेड, कुक आदि का आवागमन

• ई-कॉमर्स कम्पनियों से तथा अत्यावश्यक वस्तुओं की दुकानों से होम डिलीवरी

• रेड जोन के बाहर के ग्रामों में समस्त मनरेगा कार्य, ग्रामीण विकास कार्य एवं अन्य विभागों के निर्माण कार्य तथा तेन्दूपत्ता संग्रहण के कार्य

• फायर बिग्रेड, टेली-कम्यूनिकेशन, विद्युत प्रदाय, रसोई गैस, पेट्रोल/ डीजल/केरोसीन टैंकर, होम डिलेवरी सेवाएं, दूध एकत्रीकरण/वितरण, फल-सब्जी के परिवहन, डाक एवं कोरियर सेवाये

• मोहल्लों / कॉलोनियों में एकल दुकानें

• कोल्ड स्टोरेज एवं वेयर हाउसिंग की सर्विसेज

• समस्त सिविल मरम्मत कार्य तथा नवीन कन्स्ट्रक्शन गतिविधियाँ

• परीक्षा केन्द्र आने एवं जाने वाले परीक्षार्थी तथा परीक्षा केन्द्र एवं परीक्षा आयोजन से जुड़े कर्मी / अधिकारीगण का आवागमन

• ऑटो, ई रिक्शा में 02 सवारी, टेक्सी / निजी 04 पहिया वाहन में ड्राइवर सहित 03 सवारी कोविड प्रोटोकॉल के साथ

• जिला स्तर पर परंपरागत लेबर मार्किट कोविड प्रोटोकॉल के साथ

• व्यक्तियों और वस्तुओं का राज्य के भीतर और राज्य के बाहर आवागमन