वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी हुईं साइबर क्राइम का शिकार, फर्जी फेसबुक अकाउंट से पैसों की मांग

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना संकटकाल में भी अपराधियों के हौंसले कम नहीं हुए है। बल्कि वो इतने निडर हो गए कि आईपीएस अधिकारी का ही फर्जी अकाउंट बनाकर लोगों से पैसे मांग रहे हैं। वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी अरुणा मोहन राव तक साइबर क्रिमिनल्स के निशाने पर आ गईं जब कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर उनका फर्जी अकाउंट बनाकर लोगों से पैसों की मांग कर डाली।

जबलपुर के जामदार अस्पताल में पदस्थ सीएमओ का वीडियो हुआ वायरल

वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी हुईं साइबर क्राइम का शिकार, फर्जी फेसबुक अकाउंट से पैसों की मांग

1987 बैच की आईपीएस अधिकारी और स्पेशल डीजी रेल अरुणा मोहन राव का कुछ लोगों ने फर्जी फेसबुक अकाउंट बना लिया और ऑनलाइन फ्रेंड्स से पैसों की मांग की है। इसमें मैसेंजर पर जाकर फॉर्मल बातचीत शुरू की गई और फिर सामने वाले से 20 हजार रूपये मांग लिये। फर्जी आईडी ऑपरेट करने वाले ने कहा कि पैसो की अर्जेंट जरूरत है और सुबह वो ये पैसे वापिस कर देंगी। इसे लेकर अरुणा मोहन राव ने साफ किया है कि ये उनका अकाउंट नहीं है और उनके नाम से किसी ने फेक आईडी बनाई है।

वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी हुईं साइबर क्राइम का शिकार, फर्जी फेसबुक अकाउंट से पैसों की मांग