भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। डेढ़ साल से करीब 52 लाख कर्मचारी और 60 लाख पेंशनरों द्वारा DA, DR का इंतजार किया जा रहा है। वही लंबे समय से DA की राह देख रहे कर्मचारियों (central empoyees) के लिए बड़ी खबर है। केंद्र सरकार केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों (pensioners) के लिए महंगाई भत्ता (DA) और महंगाई राहत (DR) लाभ बहाल करने जा रही है। सवाल यह है कि क्या इसका केंद्र सरकार के कर्मचारियों के सातवें वेतन आयोग (7th pay commisssion) के वेतन मैट्रिक्स (salary metrics)  पर तत्काल प्रभाव पड़ेगा? जेसीएम (JCM) की राष्ट्रीय परिषद के अनुसार केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के सातवें वेतन आयोग के डीए और डीआर लाभ को फिर से शुरू होने में समय लगेगा।

वहीँ इसमें कहा गया है कि भारत के कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में वित्त मंत्रालय और DoPT (कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग) के साथ 26 जून को हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि 7वें CPC डीए और डीआर को सितंबर 2021 में फिर से शुरू किया जाएगा। मामले में जेसीएम की राष्ट्रीय परिषद शिव गोपाल मिश्रा (shiv gopal mishra) ने कहा कि 26 जून 2021 को हुई हमारी बैठक में यह सहमति हुई है कि केंद्र सरकार के कर्मचारियों के डीए और पेंशनभोगियों के डीआर लाभ सितंबर 2021 में फिर से शुरू किया जाएगा।

Read More: यानी ग्वालियर संभाग में Scindia की ही चलेगी! यह रहा पूरा मामला

शिव गोपाल मिश्रा ने कहा कि एक बार DA और DR बहाल हो जाने के बाद वित्त मंत्रालय इन लाभों को फिर से शुरू करने का प्रस्ताव कैबिनेट को भेजेगा। जिससे सातवें CPC वेतन में वृद्धि होगी। कैबिनेट प्रस्ताव पर अपनी मंजूरी देगी और इसके बाद सातवें वेतन आयोग (7th pay commission) के DA और DR लाभ फिर से शुरू हो जाएंगे। शिव गोपाल मिश्रा ने कहा कि दोनों DA (जनवरी 2021 और 1 जुलाई 2021 से देय) की घोषणा सितंबर 2021 में हो सकती है और उस स्थिति में केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को अगले दो और महीनों तक इंतजार करना होगा।

केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को तीन DA और DR किस्तों के भुगतान पर गतिरोध अभी भी जारी है क्योंकि कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में निर्धारित 26 जून 2021 की बैठक केंद्र सरकार को डीए और डीआर लाभ की तीन किस्तों के भुगतान का कोई समाधान खोजने में विफल रही।

बता दें कि कर्मचारी अपनी पिछली तीन किस्तों क इंताजर में हैं। जबकि केंद्र सरकार कि तरफ से अभी DA 17% है जबकि जनवरी 2020, जुलाई 2020, जनवरी 2021, जुलाई 2021 मिलाकर DA का प्रतिशत 32% हो सकता है। जनवरी 2021 से देय DA कम से कम 4 प्रतिशत होगा जबकि जुलाई से देय डीए 3 या 4 प्रतिशत होगा। इसलिए जब डीए और डीआर लाभ फिर से शुरू हो जाएगा,तो मौजूदा डीए 17 फीसदी से बढ़कर 31 फीसदी और 32 फीसदी (17 + 4 + 3 + 4 + 3/4) हो जाएगा।