शादी के बंधन में बंधने जा रहे हैं तो इस बात का रखें खास ख्याल, वरना टूट सकता है आपका रिश्ता

Sanjucta Pandit
Published on -
Lover and girlfriend ran away to get married

Relationship Tips : सगाई से लेकर शादी तक का समय एक अहम और नाजुक दौर होता है, जिसे “गोल्डन टाइम” के रूप में देखा जा सकता है। इस दौरान दोनों पार्टनर और उनके परिवार सदस्य एक-दूसरे को बेहतर से समझने का प्रयास करते हैं और रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए कई तरह के कदम उठाते हैं। गोल्डन टाइम के दौरान दोनों पार्टनर एक-दूसरे की आदतों, मूल्यों और इंटरेस्ट्स को समझने का प्रयास करते हैं, जिससे वे एक-दूसरे के साथ समर्पित और समझदार रूप से जीवन बिता सकते हैं लेकिन कई बार जरा सी लापरवाही रिश्ता टूटने का भी कारण बन जाती है। तो चलिए आइए जानते हैं कि इस समय किन गलतियों को करने से बचना चाहिए…

शादी के बंधन में बंधने जा रहे हैं तो इस बात का रखें खास ख्याल, वरना टूट सकता है आपका रिश्ता

हुक्म ना चलाएं

सगाई के बाद लोग कई बार उत्सुक हो जाते हैं और अपने मंगेतर पर हुक्म चलाने की कोशिश करते हैं, लेकिन यह महत्वपूर्ण है कि वे समझें कि सगाई सिर्फ एक वचन होता है और यह रिश्ते का आगाज़ होता है, न कि एक पूर्ण शादी। सगाई के बाद पार्टनर्स को आपसी समझदारी और सहमति के साथ अपने रिश्ते को निरंतर मजबूत बनाने की कोशिश करनी चाहिए। आपको यह याद रखना चाहिए कि हर व्यक्ति अपने व्यक्तिगत स्वतंत्रता का हकदार होता है।

ज्यादा ना मिलें

अक्सर ऐसा देखने को मिलता है कि सगाई के बाद लड़का-लड़की एक-दूसरे से मिलना-जुलना शुरू कर देते हैं जो कि कई बार रिश्ता टूटने की वजह भी बन जाता है। ज्यादा नजदीकियां बढ़ाने के चक्कर में यह घातक हो जाता है। इसलिए अपने विवेक का इस्तेमाल कर रिश्ते की मर्यादा को बनाए रखना जरूरी है।

ज्यादा बातचीत ना करें

सगाई के बाद लोगों के बीच बातचीत बड़ी महत्वपूर्ण होती है और यह बातचीत समझदारी और सम्मान के साथ होनी चाहिए। इस दौरान आपको अपने भावनाओं और विचारों को व्यक्त करने का मौका मिलता है। इसलिए आपको अपने मंगेतर के साथ सहमति के साथ बातचीत करनी चाहिए, ताकि आप दोनों अपने विचार और विचारों को साझा कर सकें। सगाई के बाद किसी भी गलतफहमी को दूर करने के लिए समझदारी से बातचीत करें। साथ ही पार्टनर का सम्मान करें।

परिवार की बुराई ना करें

शादी एक परिवार से दूसरे परिवार में संगम होता है। इसमें सम्मान, सहमति और समझदारी की भावना शामिल होती है। शादी के बाद परिवारों के सदस्य एक-दूसरे के साथ जीवन बिताने का अवसर पाते हैं। इसलिए बातचीत के दौरान परिवार की बुराई ना करें अन्यथा ये आपके लिए गलत साबित हो सकता है।

(Disclaimer: यहां मुहैया सूचना अलग-अलग जानकारियों पर आधारित है। MP Breaking News किसी भी तरह की जानकारी की पुष्टि नहीं करता है।)


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News