बालाघाट : गहरी खाई में गिरे ट्रक में फंसे चालक को खासी मशक्कत के बाद पुलिस ने बाहर निकाला, वीडियो वायरल

मलाजखंड में सीएम के आगमन पर सीएम ड्युटी में जा रहे एडीएसपी आदित्य मिश्रा और उनकी पूरी टीम की सोशल मीडिया में जमकर सराहना की जा रही है, वहीं घटनाक्रम को लेकर आये वीडियों को लोगों द्वारा जमकर शेयर किया जा रहा है। रेस्क्यू का यह वीडियो रोंगटे खड़े कर देने वाला है।

बालाघाट, सुनील कोरे। मुसीबत के वक्त हर व्यक्ति का फर्ज होता है कि वह उसकी मदद करें। नेक इंसान वही होता है, जो मुसीबत में फंसे लोगों की मदद के लिए आगे आता है और जिले में नेक इंसान की मिसाल पेश की है, नक्सल सेल के एडीएसपी आदित्य मिश्रा और सुरक्षाबलों के जवानों ने, जिन्होंने गहरी खाई में गिरे ट्रक में फंसे चालक को रस्सी के सहारे बाहर निकाला और उसे सुरक्षित सड़क तक लाकर उसे उपचार के लिए चिकित्सालय पहुंचाया।

यह भी पढ़ें… जबलपुर : EOW ने जल संसाधन विभाग के आडिटर संदीप मसके को रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा

हालांकि चालक को मामूली चोटें आई है लेकिन वह पूरी तरह सुरक्षित है, जिसके साथ जाको राखे साईयां मार सके ना कोय, वाली कहावत चरितार्थ होती दिखाई दी। मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का बालाघाट आगमन हो रहा है। जिनकी सुरक्षा के लिए बालाघाट से एडीएसपी आदित्य मिश्रा मलाजखंड जा रहे थे। जिनके साथ पुलिस पुलिस और सुरक्षाबलों के जवान थे। इस दौरान उद्घाटी के पहले एक ट्रक सड़क से गहरी खाई में पलटा दिखाई दिया। जिसे देखकर एडीएसपी और टीम ने वाहन को खड़ा कर तत्काल ही रस्से की मदद से जवानों को नीचे उतारा और गहरी खाई में गिरे ट्रक मेें फंसे चालक को कोतवाली में पदस्थ आरक्षक अंकुर गौतम और साथियों की मदद से पीट के बल लादकर रोड तक लाया। जहां एडीएसपी और टीम ने तत्काल ही फास्ट एड बॉक्स की मदद से घायल के शरीर में लगी चोटों का प्राथमिकी उपचार कर अपने वाहन से उसे पास ही के स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया। मलाजखंड में सीएम के आगमन पर सीएम ड्युटी में जा रहे एडीएसपी आदित्य मिश्रा और उनकी पूरी टीम की सोशल मीडिया में जमकर सराहना की जा रही है, वहीं घटनाक्रम को लेकर आये वीडियों को लोगों द्वारा जमकर शेयर किया जा रहा है। पूरी टीम को लेकर नेक इंसान की टीम बता रहे हैं। गौरतलब हो कि केन्द्र सरकार ने हादसे में गंभीर रूप से घायलों की जान बचाने के लिए बड़ी पहल करते हुए सड़क मंत्रालय के माध्मय से नेक इंसान को पुरस्कार की घोषणा की है। जिसमें यदि कोई सड़क दुर्घटना के पीड़ितों को गंभीर चोट लगने के एक घंटे के भीतर अस्पताल पहुंचाकर उसकी जान बचाने में मददगार बनता है तो उस शख्स को नेक इंसान पुरस्कार के रूप में पांच हजार रुपये पुरस्कार देगी। ताकि ऐसे घायलों को लेकर लोगो का जज्बा जागे और बढ़ती सड़क हादसे में मौतो को कम किया जा सके।