मध्य प्रदेश में बेटियों की पूजा से ही शुरू होंगे सभी सरकारी कार्यक्रम

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट
राजधानी भोपाल (Bhopal) स्थित मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद राज्य स्तरीय स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने कई बड़े एलान किये| सीएम शिवराज ने कहा अब प्रदेश में बेटियाँ की पूजा से ही सभी सरकारी आयोजन प्रारंभ होंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा बेटियों का कल्याण हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। प्रदेश में लाड़ली लक्ष्मी योजना के अंतर्गत 78 हजार से अधिक ई-सर्टिफिकेट जारी किए गए हैं। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत 5 लाख 9 हजार से अधिक हितग्राहियों के बैंक खातों में 84 करोड़ रुपये से अधिक राशि डाली गई है। मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना भी संचालित की जा रही है।

बेटियों के विरूद्ध अपराधों पर जीरो टॉलरेंस
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि महिलाओं और बेटियों के विरुद्ध अपराध करने वालों के विरुद्ध जीरो टॉलरेन्स की नीति अपनायी गयी है। अपराध करने वाले पूरी मानवता के दुश्मन हैं और उन्हें किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा। पीड़ित व्यक्ति को एफआईआर दर्ज कराने के लिए पुलिस थाने नहीं आना पड़े, इसके लिये सरकार ने ‘एफआई आर-आपके द्वार’ योजना का प्रयोग भी प्रारंभ किया है।

महिला सशक्तिकरण के लिए कई काम
सीएम ने कहा यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः। जहां नारी की पूजा होती है, वहाँ देवता निवास करते हैं। महिला सशक्तिकरण के लिए हमने एक नहीं अनेकों कार्य प्रारंभ किए हैं। बहनों और बेटियों में गजब की रचनात्मक शक्ति होती है। इस शक्ति के दर्शन हमने कोरोना काल में भी किए जब हमारे पास पीपीई किट नहीं थे, हमने अपने महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप से कहा और उन्होंने 1 लाख 14 हज़ार पीपीई और 1 करोड़ 12 हज़ार मास्क बनाकर हमें दे दिए। स्वयं सहायता समूह को बढ़ावा दिया जाएगा। हमने तय किया है कि इस साल लगभग 13 सौ करोड़ रुपए का लोन केवल चार प्रतिशत इंटरेस्ट रेट पर उन्हें दिया जाएगा। मेरी स्वयं सहायता समूह की बहने जो सामान बनाएंगी उसकी पैकेजिंग और मार्केटिंग में हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।