जनसुनवाई मे किसान ने खाया कीटनाशक, मंत्री कमल पटेल ने दिए जांच के आदेश

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने कलेक्ट्रेट परिसर छिंदवाड़ा में जन सुनवाई के दौरान जिले के किसान नरेश पवार द्वारा कीटनाशक पीने की घटना पर संज्ञान लेते हुए कलेक्टर छिंदवाड़ा को जांच के आदेश देते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। मंत्री कमल पटेल ने इस घटना पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि कलेक्टर खुद इस मामलें की जांच करे।

अंबेडकर की रंगोली को लेकर हंगामा, ओबीसी महासभा ने किया चक्का जाम

गौरतलब है कि आज मंगलवार को छिंदवाड़ा में  किसान नरेश पवार ने जनसुनवाई के दौरान कलेक्ट्रेट कार्यालय में कीटनाशक दवा का सेवन कर लिया था, नरेश पवार का आरोप है कि विगत 4 वर्षों से वह लगातार जनसुनवाई में पहुंचता है परंतु उसकी समस्या का निराकरण नहीं हो रहा है, किसान का कहना है कि उसके पैतृक जमीन जिस पर उसका बरसों से कब्जा है उक्त जमींन पटवारी और राजस्व निरीक्षक दुसरे से पैसे लेकर व प्रशासनिक सांठगांठ कर उसकी जमीन किसी दूसरे व्यक्ति के नाम करने का काम कर रहे है, इससे परेशान वह लगातार वर्षों से प्रशासनिक अधिकारियों के समक्ष उपस्थित होकर न्याय की गुहार लगा रहा है, परंतु आज उस समय अति हो गई जब उसे लगा कि अब उसके साथ न्याय नहीं होने वाला और  उसने कलेक्ट्रेट परिसर में ही कीटनाशक दवा का सेवन कर अपनी जीवन लीला समाप्त करने की पुरजोर कोशिश की।

नही सुनी छात्रा की गुहार ! पुलिस पर उठे सवाल

किसान ने व्यथित होते हुए पूरा व्यथा सामने रखी और बताया कि उसने कीटनाशक शहर का सेवन कर लिया है ! सूचना लगते ही कलेक्ट्रेट परिसर में मानो भगदड़ सी मच गई, तत्काल प्रभाव से थाना कोतवाली टीआई जगत और तहसीलदार उपस्थित हुए और उन्होंने सबसे पहले जहर खुरानी करने वाले किसान को अपने कब्जे में लेकर जिला चिकित्सालय में उसका इलाज प्रारम्भ कराया। इलाज कर  रहे चिकित्सक ने बताया जाता है कि किसान की हालत खतरे से बाहर है।