भोपाल के एक गाँव में सेना के हेलीकॉप्टर की आपातकालीन लैंडिंग, 6 जवान थे सवार, तकनीकी खराबी की आशंका

Manisha Kumari Pandey
Published on -

MP News: रविवार की सुबह मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के एक गाँव में सेना के हेलीकॉप्टर की इमरजेन्सी लैंडिंग (Airforce Helicopter Emergency Landing in Bhopal) करवाई गई। बताया जा रहा है कि हेलीकॉप्टर में कुछ तकनीकी खराबी होने के कारण बैरसिया के डंगूरिया गाँव के एक खेत में आपातकालीन लैंडिंग करवानी पड़ी। है। इसमें 6 जवान सवार थे।

ग्रामीणों ने क्या कहा?

ग्रामीणों के मुताबिक यह घटना सुबह 8 बजे की है। हेलीकॉप्टर पहले आसमान में चक्कर ला रहा था, उसके बाद खेत में उतरा। सेना के हेलिकॉप्टर को ऐसे उतरता देख ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठा हो गई। उसके बाद मदद के लिए दूसरा हेलीकॉप्टर इंजीनियर्स और टेक्निकल टीम के साथ मौके पर पहुंचा और रवाना हुआ। इस मामले में सेना ने कोई भी जवाब देने से मना कर दिया है।

भोपाल से झांसी जा रहा था हेलिकॉप्टर

बताया जा रहा है कि यह इंडियन एयर फोर्स का हेलीकॉप्टर है, जो भोपाल से झांसी जा रहा था। बता दें कि शनिवार को भोपाल में एयर फोर्स के बड़े एयर शो का सफल आयोजन हुआ था। इस दौरान सेना के कई विमान शामिल हुए थे।


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News