कैंसर से लड़ने अब MP सरकार प्राकृतिक खेती को बनाएगी जन हथियार

CABINET MEETING

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मध्यप्रदेश सरकार अब कैंसर जैसी और कई गंभीर बीमारियों से लड़ने के लिए प्राकृतिक खेती को जन हथियार बनाएगी। कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया  कि हमारे देश का पंजाब जैसा प्रांत कैंसर जैसी बीमारी से ग्रस्त है। वहां की भूमि पर अत्याधिक पेस्टिसाइड और रसायनिक खाद का खेती किसानी में उपयोग हुआ, वहा कैंसर ट्रेन चल रही है। अभी हम जहरीला अनाज खा रहे हैं और इसी कारण कई गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। हमारा मध्यप्रदेश भी इन गंभीर बीमारियों से अछूता नहीं है।

यह भी पढ़ें… गर्मियों में घर पर यूं बनाएं स्वादिष्ट चॉकलेट मिल्कशेक

कृषि मंत्री पटेल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आह्वान किया है कि हमें प्राकृतिक खेती की तरफ वापस आना है।पीएम मोदी की इसी मंशा पर मध्य प्रदेश सरकार की मंत्रिपरिषद ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में सर्वसम्मति से मध्यप्रदेश में मध्यप्रदेश प्राकृतिक कृषि विकास बोर्ड के गठन करने का निर्णय लिया है। इस बोर्ड के माध्यम से सरकार प्रदेश में किसानों को प्राकृतिक खेती करने के लिए प्रोत्साहित करेगी। प्रचार-प्रसार भी करेगी। इसी कड़ी में प्राकृतिक खेती के प्रोत्साहन के लिए जो किसान प्राकृतिक एवं गौवंश आधारित खेती करने के साथ एक देसी गाय पालेगा। उसे 900 रुपए प्रतिमाह अनुदान सरकार देगी। एक देसी गाय से 30 एकड़ में प्राकृतिक खेती की जा सकती है। जिससे हमारे प्रदेश का जनमानस स्वस्थ अनाज खाएगा और गौवंश आधारित खेती से कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से लड़ेगा।
मध्यप्रदेश में प्राकृतिक कृषि विकास बोर्ड के गठन एवं फसल विविधीकरण प्रोत्साहन योजना लागू करने पर कृषि मंत्री कमल पटेल ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह और मंत्री परिषद के सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया है और उन्होंने प्रदेश के किसानों से प्राकृतिक खेती करने का आग्रह किया है।