UGC ने जारी की डिफॉल्टर यूनिवर्सिटी की लिस्ट, MP के 7 विश्वविद्यालय यूनिवर्सिटी भी शामिल

मध्य प्रदेश के कई नामचीन विश्विद्यालय शामिल हैं। जिसमें एशिया के पहले और देश के सबसे बड़े मीडिया विश्वविद्यालय माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल जैसे कई विश्विद्यालय के नाम शामिल हैं।

Amit Sengar
Published on -
UGC Updates

UGC Declared 7 MP Universities Defaulter : विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने मध्य प्रदेश के 7 विश्वविद्यालयों समेत 108 राज्य विश्वविद्यालय व 47 निजी विश्वविद्यालय और दो डीम्ड विश्वविद्यालयों को डिफाल्टर घोषित कर दिया है। UGC ने विश्वविद्यालयों को जरूरी निर्देशों को न पूरा करने के कारण यह फैसला लिया है। जिसमें मध्य प्रदेश के कई नामचीन विश्विद्यालय शामिल हैं। जिसमें एशिया के पहले और देश के सबसे बड़े मीडिया विश्वविद्यालय माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल जैसे कई विश्विद्यालय के नाम शामिल हैं।

UGC के निर्देशों को लागू न करने पर डिफाल्टर घोषित

दरअसल, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने देश के सभी विश्वविद्यालयों में लोकपाल की नियुक्ति किए जाने के निर्देश और छात्रों की शिकायत के निराकरण के लिए समिति के गठन के निर्देश दिए थे। मगर लोकपाल नियुक्त नहीं करने पर जिन विश्वविद्यालयों को डिफॉल्टर की सूची में रखा है, वहीं UGC द्वारा इन विश्वविद्यालयों की अनुदान राशि पर भी कटौती करने की बात कही गई है। वहीं अगर डिफाल्टर घोषित विश्वविद्यालय जल्दी ही लोकपाल की नियुक्ति नहीं करेंगे तो UGC और भी सख्त कदम उठाएगी।

क्या है लोकपाल का काम

यूनिवर्सिटी लोकपाल वह व्यक्ति होता है जो छात्रों की समस्याओं को सुनकर उनका समाधान निकालने का काम करता है। यूजीसी के मुताबिक, हर विश्वविद्यालय को छात्रों की शिकायतों के निवारण के लिए एक लोकपाल नियुक्त करना होता है। लोकपाल के पद पर नियुक्ति सेवानिवृत्त कुलपति, 10 सालों के अनुभव वाले सेवानिवृत्त प्रोफेसर या पूर्व जिला जज को ही मिलती है।

MP की ये 18 विश्वविद्यालय डिफाल्टर घोषित

  • MP की पत्रकारिता यूनिवर्सिटी माखनलाल चतुर्वेदी डिफाल्टर घोषित
  • आरजीपीवी विश्वविद्यालय
  • जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय
  • मध्यप्रदेश मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी
  • नानाजी देशमुख पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय
  • राजा मानसिंह तोमर म्यूजिक एवं आर्ट यूनिवर्सिटी

About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News