रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया नगर पालिका का वार्ड मोहर्रर, मकान टैक्स एवं नामांतरण का था मामला

लोकायुक्त (Lokayukta) सागर द्वारा नगर पालिका (Municipality)  के वार्ड मोहर्रर के खिलाफ शिकायत के बाद कार्रवाई की गई। कार्रवाई में वार्ड मोहर्रर (Ward Mohrrer) साढ़े 3 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार हुए।

bribe

दमोह, आशीष जैन। नगर पालिका (Municipality) के कर्मचारी द्वारा मकान के टैक्स एवं नामांतरण को लेकर मांगी गई रिश्वत की शिकायत लोकायुक्त (Lokayukta) में की गई। इसके बाद लोकायुक्त (Lokayukta) सागर द्वारा नगर पालिका (Municipality)  के वार्ड मोहर्रर के खिलाफ कार्रवाई की गई। कार्रवाई में वार्ड मोहर्रर (Ward Mohrrer) साढ़े 3 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार हुए।

रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया नगर पालिका का वार्ड मोहर्रर, मकान टैक्स एवं नामांतरण का था मामला

ये भी पढे़– अब घर बैठे बना सकेंगे लर्निंग License, जानें कैसे करें ऑनलाइन आवेदन

दमोह नगर पालिका (Municipality) क्षेत्र अंतर्गत रहने वाले राम कुंदनानी द्वारा मकान टैक्स भरे जाने एवं नामांतरण की कार्रवाई के मामले में जब नगर पालिका में संपर्क किया गया, तो वार्ड मोहर्रर द्वारा करीब ₹67000 की रिकवरी (Recovery) बताई गई। वहीं नगर पालिका (Municipality) के अधिकारियों से मुलाकात के बाद पीड़ित राम कुंदनानी ने करीब ₹27000 टैक्स के रूप में जमा कर दिए।

ये भी पढे़- Morena : संत समाज ने की ग्राम पंचायतों में शराब ठेकों पर रोक लगाने की मांग, सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

बता दें कि वार्ड मोहर्रर ने इस मामले पर ₹5000 के रिश्वत की मांग की। जिसके बाद ₹4500 में सौदा तय हुआ। ₹1000 की राशि देने से पहले इस बात की शिकायत पीड़ित ने लोकायुक्त में की। वहीं बचे ₹3500 दिए जाने के दौरान लोकायुक्त सागर की टीम ने वार्ड मोहर्रर भागीरथ शर्मा को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। पीड़ित की दुकान पर रिश्वत लेने पहुंचे वार्ड मुहर्रर नगर पालिका (Municipality)  कर्मी को कोतवाली ले जाया गया जहां उसके खिलाफ कार्रवाई की गई।