90 साल की उम्र में दादी ने हाइवे पर चलाई कार, सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कही यह बात

सीएम ने तारीफ करते हुए लिखा कि "दादी मां ने हम सभी को प्रेरणा दी है कि अपनी अभिरुचि पूरी करने में उम्र का कोई बंधन नहीं होता है। उम्र चाहे कितनी भी हो, जीवन जीने का जज़्बा होना चाहिए!"

देवास, अमिताभ शुक्ला। आपने वह कहावत तो जरूर सुनी होगी कि सीखने की कोई उम्र नहीं होती और अगर कुछ कर दिखाने की तमन्ना हो तो आपकी उम्र भी उसमें बाधा नहीं बनती है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है मध्य प्रदेश (MP) के देवास (dewas) की 90 साल की रेशम बाई तंवर ने। जो उम्र के उस पड़ाव में हाईवे पर कार दौड़ा रही हैं जिस उम्र में अधिकतर बुजुर्ग तीर्थ यात्रा पर जाते हैं या घर में रहना पसंद करते हैं। बता दें कि जब 90 साल की दादी ने हाईवे पर कार दौड़ाई तो प्रदेश के मुखिया सीएम शिवराज (CM Shivraj) भी भी दंग रह गए और ट्वीट कर उनकी जमकर तारीफ भी की।

यह भी पढ़ें…होशंगाबाद में शिक्षक ने नाबालिग छात्रा को बनाया हवस का शिकार, ऐसे हुआ खुलासा

1,2,3 और हो गयी कार स्टार्ट….देवास मक्सी मार्ग यानि हाईवे पर सरपट कार दौड़ाती इन महिला की उम्र है 90 साल….! जी हाँ 90 साल….90 साल की इन महिला का नाम है रेशम बाई तंवर। जो सड़कों पर फर्राटेदार कार दौड़ा रही है। दबंग दादी बताती हैं कि उनके घर में सभी को कार चलानी आती है और घर में बैठे बैठे हो बोर हो गई थी जिसके बाद उन्होंने अपने बेटों से कार सीखने की इच्छा जाहिर की। जिसके बाद मैंने कार चलाना सिखा और अपने बेटों उठाकर कार चलाती हूं।वहीं रेशम बाई तंवर ने अब गाँव से देवास तक कार चलाने के बाद कार चलाकर भोपाल जाने की इच्छा भी जताई है।

CM शिवराज सिंह चौहान ने Tweet कर दादी की तारीफ़ की
जब यह वीडियो प्रदेश के मुखिया सीएम शिवराज ने देखा तो वो खुद को दादी की तारीफ करने से रोक नहीं पाए। और उन्होंने दादी के वीडियो को रीट्वीट करते हुए लिखा कि “दादी मां ने हम सभी को प्रेरणा दी है कि अपनी अभिरुचि पूरी करने में उम्र का कोई बंधन नहीं होता है। उम्र चाहे कितनी भी हो, जीवन जीने का जज़्बा होना चाहिए!”

वहीं उनके छोटे बेटे सुरेश तँवर जिसने अपनी माता जी को कार चलाना सिखाई है उनका कहना है कि मां के इस उम्र में कार चलाने को लेकर वो काफी खुश है और अब माता जी कार चलाने में परफेक्ट हो गयी है। मां को देख अब गाँव की दूसरी महिलाएं कार चलाना सिखने की इच्छा जता रही है । सुरेश तँवर प्राउड फील करते हुए कहते है, कि अब यदि मैं घर पर ना रहूं और परिवार में कोई बीमार हो जाए तो कम से कम माता जी उसको अस्पताल तो ले जाएगी ।

कार चलाकर सबको चौका दिया दादी ने
बता दें कि रेशम बाई तंवर देवास के बिलावली गाँव की रहने वाली है। रेशम बाई ने इस उम्र में कार चलाना सिखने की इच्छा जताई और उनकी इस इच्छा को पूरी की उनके बेटे, पोता – पोती ने 90 साल की रेशम बाई अपने गाँव बिलावली से देवास तक कार चलाकर खुद ले जाती है। हाइवे और गाँव में इनको कार चलाते देख लोग अब उनके इस ज़ज़्बे की दिल खोलकर तारीफ़ कर रहे है ।

बहरहाल, इस उम्र में कार चलाकर सबको चौंकाने वाली दादी जी अब कहीं ना कहीं उन बुजुर्ग महिलाओ के लिए प्रेरणा बन गयी है, जिनको लोग यह कह देते है कि “छोड़िये आपसे इस उम्र में ये ना होगा”

यह भी पढ़ें…आईएएस संतोष वर्मा फर्जी दस्तावेज मामले में एसआईटी गठित, जयवीर सिंह भदौरिया करेंगे जांच