ग्वालियर महापौर ने पेश किया तीन लाख, एक हजार, एक सौ पचास रुपए लाभ का बजट

Atul Saxena
Published on -

Gwalior Municipal Corporation Budget 2023-24 : ग्वालियर महापौर डॉ शोभा सतीश सिकरवार ने आज मंगलवार को नगर निगम परिषद् के विशेष सम्मेलन में वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए रुपये 21,28,08,31,000/- (इक्कीस अरब, अठ्ठाईस करोड़, आठ लाख, इक्तीस हजार रुपये) आय तथा रुपये 21,07,45,27,000/- (इक्कीस अरब, सात करोड़, पैंतालीस लाख, सत्ताईस हजार रुपये) का व्यय तथा रक्षित कोष 5 प्रतिशत रुपये 20,60,02,850/- (बीस करोड़, साठ लाख, दो हजार, आठ सौ पचास रुपये) का बजट यानि रुपये 3,01,150/- (तीन लाख एक हजार एक सौ पचास रुपये) लाभ का बजट प्रस्तुत किया।

ग्वालियर महापौर ने पेश किया तीन लाख, एक हजार, एक सौ पचास रुपए लाभ का बजट

 

महापौर डॉ. शोभा सतीश सिंह सिकरवार ने बजट प्रस्तुत करते हुए कहा कि वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए वर्तमान परिषद का प्रथम बजट प्रस्तुत करते हुये मैं अपने कर्तव्य के अनुरूप वर्तमान परिषद की अल्पावधि में सभापति द्वारा लिए गए विवेकपूर्ण निर्णयों में समस्त पार्षदों के सहयोग, सामंजस्य की भावना और नगर विकास के कार्यों में सम्मानीय नागरिकों के सहयोग एवं मेरा उत्साहवर्धन करने के लिए नमन करते हुए धन्यवाद करती हूँ। आज मुझे यह कहने में किंचित भी कोई संकोच नहीं है कि हमारे प्रतिपक्ष और सत्तापक्ष के सभी पार्षदों ने परस्पर विश्वास और समन्वय की भावना को बनाए रखा है।

ग्वालियर महापौर ने पेश किया तीन लाख, एक हजार, एक सौ पचास रुपए लाभ का बजट

उन्होंने आगे कहा कि गालव ऋषि की तपोभूमि ग्वालियर नगर का अतीत वैभवपूर्ण है। यह नगर अपनी ऐतिहासिकता में ही नहीं बल्कि नियोजित नगर के रूप में भी प्रसिद्ध रहा है। यहां पत्थर शिल्प के कलात्मक भवनों की श्रंखलायें, भव्य चौराहे, विशाल उद्यान, चौड़ी सड़कें, व्यवस्थित बाजार, उद्योग क्षेत्रों के साथ-साथ महाराज बाड़ा, ऐतिहासिक दुर्ग, स्वर्ण रेखा नदी, व्यवस्थित यातायात, विशाल खेल मैदान सहित आमोद-प्रमोद तथा पर्यटन के रूप में एक समृद्ध विरासत हमारे पास है, जिसके संरक्षण, संवर्धन और विकास के लिये हम कृत संकल्पित हैं।

ग्वालियर महापौर ने पेश किया तीन लाख, एक हजार, एक सौ पचास रुपए लाभ का बजट

इसी संकल्प के साथ मैं अपना प्रथम बजट वर्ष 2023-24 समग्र विकास को दृष्टि में रखते हुए पुरानी अधूरी योजनाओं को पूर्ण करने एवं नवीन योजनाओं को प्रारंभ करने के लिए आपके एवं केंद्र सरकार/राज्य सरकार के बहुमूल्य सुझाव एवं अनुभव प्राप्त करने की आषा के साथ प्रस्तुत करती हूॅ, साथ ही मैं आप सभी से यह उम्मीद रखती हूॅ कि नगर के सम्मानीय नागरिकों ने हमें नगर के सौंदर्यीकरण एवं विकास की जो जिम्मेदारी सौंपी है, उसे पूरा करने के लिए आप सभी अपने अमूल्य सहयोग द्वारा ग्वालियर नगर के विकास की गंगा को नए सौपान चढ़ाकर हर शहरवासी को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने में मेरे सहयोगी होंगे।

बजट के महत्वपूर्ण प्रावधान 

आदर्श गौशाला 

– पूरे मध्य प्रदेश में केवल नगर निगम, ग्वालियर द्वार आदर्श गौशाला लाल टिपारा का संचालन बृहद स्तर पर किया जा रहा है। वर्तमान में निगम द्वारा अपने स्त्रोतों से लगभग 15 करोड़ रुपये  का व्यय प्रतिवर्ष किया जा रहा है। इस व्यय में कमी हेतु तथा गौशाला आत्मनिर्भर बनाने के लिये निम्न प्रयास किये जा रहे है।
– गौशाला को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में इण्डियन ऑयल कॉर्पोरेशन द्वारा (निगमित सामाजिक उत्तरदायित्व) 32 करोड़ रुपये की लागत से 100 टन प्रति दिवस क्षमता वाला बायो सी.एन.जी. प्लांट स्थापित किया जा रहा है। जिसे आगामी वर्ष में पूर्ण कराने का प्रयास किया जायेगा।
– बायो सी.एन.जी. प्लांट की स्थापना लगभग 10 बीघा भूमि पर की जाना प्रस्तावित है एवं भविष्य में विस्तार को दृष्टिगत रखते हुये 1 हेक्टेयर भूमि आरक्षित रखी गई है।
–  प्लांट स्थापना उपरांत लगभग 2 से 3 टन प्रति दिवस बायो सी.एन.जी. एवं लगभग 20 टन (बीस टन) प्रति दिवस उच्च कोटि की प्राकृतिक खाद का उत्पादन होगा, जिससे कि नगर निगम, ग्वालियर को लगभग राशि 7 करोड़ रुपये की आय प्राप्त होना संभावित है।
–  नगर निगम ग्वालियर द्वारा मार्क हॉस्पीटल गोले का मंदिर पर अस्थायी रूप से संचालित गौवंष लगभग संख्या 2000 को आदर्श गौषाला लाल टिपारा में स्थानांतरित करने हेतु लगभग 25 बीघा भूमि पर नवीन काऊ शेड, खनौटे एवं अन्य आधारभूत सुविधाओं का निर्माण प्रस्तावित किया गया है।

सुविधाजनक होंगी शहर की सड़कें

किसी भी शहर की पहचान अच्छी व सुविधाजनक सड़कों से ही होती है। इस दिशा में ग्वालियर नगर निगम तेजी से काम कर रहा है। सभी चारों विधानसभा क्षेत्रों में लगभग 82 करोड़ रुपये की सड़क चौड़ीकरण के निर्माण का लक्ष्य वित्तीय वर्ष 2023-24 में रखा गया है, जिसमें मुख्यतः 55 करोड़ रुपये सी.सी. सड़को के निर्माण तथा 25 करोड़ रुपये सड़कों के डामरीकरण हेतु प्रस्तावित किये गए हैं। इसके अतिरिक्त सड़कों की मरम्मत एवं अनुरक्षण हेतु 62 करोड़ रुपये का प्रावधान रखा गया है।
15वे वित्त आयोग से प्राप्त राशि के विरुद्ध 18 करोड़ रुपये की सड़कों का निर्माण तथा कायाकल्प अभियान अंतर्गत नगरीय क्षेत्र की 21 सड़कों के सुधार हेतु राशि 25 करोड़  रुपये का व्यय प्रस्तावित है।

विकसित होंगे शहर के पार्क

नगर निगम ग्वालियर के पार्क विभाग द्वारा वर्ष 2022-23 में ग्वालियर शहर के 05 बड़े पार्क जैसे- लालटिपारा, आनंद नगर बड़ा पार्क, कटी घाटी पार्क, नवीन पार्क कांचमील, दषहरा मैदान पार्क को 02 वर्षीय उद्यानिकी रख-रखाव हेतु ठेके पर दिए गए इसके साथ ही 15वें वित्त आयोग से प्राप्त राषि अंतर्गत रेसकोर्स रोड के दोनों ओर हरित पट्टिका का निर्माण एवं 05 वर्षीय उद्यानिकी संधारण का कार्य गतिशील है। वार्ड क्रं. 12 में लाईन नं. 02 स्थित पार्क में ओपन जिम लगवाए गये हैं। गोले के मंदिर चौराहे से 07 नं. चौराहे तक रोड डिवाईडरों पर नवीन रेलिंग लगाने का कार्य कराया गया है। जलबिहार स्थित तालाबों में नवीन संगीतमय फुब्बारे लगाने के अतिरिक्त गांधी पार्क एवं जलबिहार पार्क में प्रथम बार ट्यूलिप गार्डन तैयार कराया गया है। इसके साथ ही 05 कि.मी. रोड डिवाईडर पर वृक्षारोपण का कार्य संपन्न कराया गया है। मुरार शमशान घाट रोड़ पर नवनिर्मित डिवाईडर पर रेलिंग एवं उद्यानिकी विकास कार्य कराने के अतिरिक्त आदर्ष कॉलोनी, शिवशक्ति पचारा क्वाटर, लक्ष्मण तलैया, विनय नगर सेक्टर नं. 2, लाईन नं. 2 व 3, अल्कापुरी जल बिहार, जीवाजी चौक पार्क सहित अनेक पार्कोें में सिविल एवं उद्यानिकी कार्य कराये जा रहे हैं।

अन्य विकास कार्य हेतु उल्लेखनीय प्रावधान

1. निकाय द्वारा सांस्कृतिक गतिविधियों जैसे- अटल गौरव दिवस, नवसंवत्सर, चकरी मेला, रानी लक्ष्मीबाई एवं अन्य महापुरूषों जैसे- संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर, भगवान परषुराम, महाराणा प्रताप, वीरागंना झलकारी बाई, ज्योतिबाराव फुले, सावित्रीबाई फुले, संत गाड़गे महाराज, महर्षि वाल्मीकि, अग्रसेन महाराज, देवी अहिल्याबाई होल्कर, मैथलीशरण गुप्त, गुरूगोविन्द सिंह सहित अन्य महापुरूषों के जन्मोत्सव समारोह आदि को बढ़ावा दिये जाने हेतु आगामी वित्तीय वर्ष में राशि 03 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।
2. मौलिक निधि की राशि में वृद्धि करते हुये महापौर/अध्यक्ष/वरि.पार्षदगण/पार्षदगण तथा वार्ड समिति निधि अंतर्गत कुल राशि रुपये 54 करोड़ का प्रावधान रखा गया है।
3. शहर के पार्कों को विकसित करने हेतु 09 करोड़ रुपये का प्रावधान।
4. निगम भूमियों को सुरक्षित रखने हेतु बाउण्ड्रीवाल, नवीन बाजार निर्माण हेतु (प्रोकॉस्ट हेतु) 04 करोड़ रुपये का प्रावधान है।
5. पार्क एवं उद्यान शेड साइड लीनियर गार्डन हेतु 07 करोड़ रुपये का प्रावधान प्रस्तावित है।
6. सफाई कर्मचारियों के स्वास्थ्य एवं सुरक्षा की दृष्टि से ग्लब्स, मास्क एवं अन्य उपकरण हेतु प्रावधान किये गये है।
7. निगम की खाली भूमि पर नवीन वर्कशॉप निर्माण हेतु प्रावधान बजट में प्रस्तावित है।
8. आवारा पशुओं के वैक्सीनेशन एवं बधियाकरण हेतु 10 करोड़ रुपये का प्रावधान प्रस्तावित है।
9. सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट हेतु 30 करोड़ रुपये का प्रावधान प्रस्तावित है।
10. शहर की सड़कों पर पैदल चलने हेतु 10 करोड़ रुपये का फुटपाथ निर्माण प्रस्तावित है।
11. शहर के चौराहों, दीवारों पर वॉल पेंटिग एवं शहर के सौदर्यीकरण हेतु 8 करोड रुपये का प्रावधान रखा गया है।
12. स्थानीय स्तर पर स्वास्थ्य सुविधायें उपलब्ध हो सके इस हेतु संजीवनी क्लीनिक योजनान्तर्गत 35 नये क्लीनिक एवं 23 पुराने क्लीनिकों के उन्नयन हेतु एवं एस.डी.आर.एफ/एस.डी.एम.एफ. तथा अन्य जमा निधियों के विरूद्ध निर्माण कार्य हेतु 70 करोड़ रुपये का प्रावधान प्रस्तावित किया गया है, जिससे शहरवासियों को वार्ड में स्वास्थ्य सुविधायें उपलब्ध हो सकें।
13. शहर में महिलाओं की सुविधा हेतु पिंक टॉयलेट का निर्माण विभिन्न स्थानों पर कराये जाने हेतु 7 करोड रुपये का प्रावधान प्रस्तावित किया गया है।
14. शहर के नागरिकों केे मनोरंजन एवं ग्वालियर शहर के पर्यटक केन्द्रों के संवर्धन हेतु वोट क्लब फूलबाग ग्वालियर के अंतर्गत वर्तमान में बैजाताल पर नौकायन का कार्य संचालित किया जा रहा है। आगामी वर्ष में फूलबाग स्थित वोट क्लब अंतर्गत मछलीघर को पुनः शुरू कर नवीन नौकाओं को खरीदने का प्रयास किया जायेगा। इसके साथ-साथ बैजाताल पर नवीन लाईटिंग फाउंटेन की स्थापना एवं वाटर स्पोर्ट्स की गतिविधियां चालू की जाना प्रस्तावित है।
15. वित्तीय वर्ष में शाला उन्नयन हेतु विद्यालयों में शौचालय, पेयजल एवं प्रकाश व्यवस्था हेतु 3 करोड़ रुपये का प्रावधान प्रस्तावित है, जिससे बालक-बालिकाओं को स्वच्छ वातावरण प्राप्त हो सके।
16. शहर के युवाओं एवं खिलाडियों के प्रोत्साहन हेतु खेल गतिविधिओं को बढ़ाने के लिए राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय खिलाडियों को प्रोत्साहन एवं पूर्व में संबंधित खेल प्रतियोगिताओं के साथ नवीन महापौर खेल उत्सव हेतु 2 करोड़  रुपये का प्रावधान प्रस्तावित है। इसके साथ-साथ शहरी खिलाड़ियों द्वारा राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन करने के लिये प्रोत्साहन अनुदान शिवाजी राव पवार खेल रत्न पुरस्कार के साथ-साथ बालिकाओं के प्रोत्साहन हेतु वीरांगना झलकारी बाई बालिका प्रोत्साहन पुरूस्कार शामिल करते हुये 4 करोड़ रुपये  का प्रावधान प्रस्तावित है।
17. नागरिकों की सुविधा एवं स्थानीय लोगों के रोजगार की दृष्टि से नवीन बाजार निगम भूमि पर निर्माण हेतु 1 करोड़ रुपये का प्रावधान रखा है।
18. शहर की विद्युत व्यवस्था सुदृढ़ एवं विद्युत व्यय कम करने की दृष्टि से सोलर एनर्जी स्ट्रीट लाईट, पायलट प्रोजेक्ट स्तर पर चालू कराने हेतु 5 करोड़ रुपये का प्रावधान रखा गया है।
19. शहर की आवश्यकताओं को देखते हुये नये विद्युत पोल स्थापन हेतु 5 करोड़ रुपये का प्रावधान रखा है।
20. शहर की यातायात व्यवस्था के लिए विभिन्न स्थानों पर नवीन पार्किंग निर्माण हेतु 5 करोड़ रुपये का प्रावधान रखा गया है।
21. शहरी गरीब बस्तियों में अधोसंरचना कार्य जैसे- स्मार्ट स्कूल, भवन निर्माण एवं स्वच्छता, प्रकाष एवं यातायात व्यवस्था हेतु पुल एवं सड़कों के निर्माण के लिये बजट में 40 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।
22. कार्यालयीन उपयोग की सामग्री एवं अन्य उपकरण कम्प्यूटर, लेपटॉप आदि क्रय हेतु 2.5 करोड़ रुपये का प्रावधान प्रस्तावित है।
23. आर्थिक रियायतें महापौर एवं पार्षद (मनोनीत पार्षद सहित) के स्वैच्छिक अधिकार हेतु 2.78 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News