चिराग शिवहरे की हत्या के आरोपी ने थाने में की आत्महत्या की कोशिश, षड्यंत्र में शामिल युवती भी गिरफ्तार

Atul Saxena
Published on -

Gwalior News : डबरा के चर्चित चिराग शिवहरे हत्याकांड के प्रमुख आरोपी अंश जादौन ने पुलिस थाने में आत्महत्या  करने की कोशिश की, लेकिन थाने में मौजूद प्रहरी ने उसे ऐसा करते देख लिया और उसने दौड़कर उसे नीचे उतारा, पुलिस अधिकारियों ने अंश जादौन को अस्पताल में भर्ती कराया जहाँ उसकी हालत अभी खतरे से बाहर बताई जा रही है, उधर इस हत्याकांड  में शामिल युवती द्रष्टि ग्रोवर को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

रोशनदान से चादर बांधकर थाने में लगाई फांसी, प्रहरी ने बचाई जान 

एडिशनल एसपी क्राइम राजेश डंडोतिया के मुताबिक चिराग शिवहरे की हत्या के आरोप में अंश जादौन को गिरफ्तार किया गया था उसे पीआर पर लेने के बाद यूनिवर्सिटी थाने की हवालात में रखा गया था, रात को उसने सर्दी लगने और हल्का बुखार होने की बात कही और चादर की मांग की। पुलिस ने उसे चादर दे दी जिसे उढ़कर वो सो गया, आज शनिवार को अंश ने शौच के लिए दी जाने वाली  बाल्टी को उल्टा किया और उसपर चढ़कर रोशनदान से चादर को बांधा और फांसी लगाने की कोशिश की, जैसे ही आरोपी अंश ने बाल्टी को पैर से धक्का दिया, हवालात के बाहर मौजूद प्रहरी ने उसे देख लिया और दौड़कर उसे नीचे उतारा।

अस्पताल में भर्ती, हालत खतरे से बाहर 

घटना की सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई जिसके बाद आरोपी अंश जादौन को ग्लोबल अस्पताल में ले जाया गया, जहाँ डॉक्टर्स ने उसका इलाज शुरू किया, फिलहाल उसकी हालत खतरे से बाहर है। एडिशनल एसपी ने बताया कि पुलिस ने चिराग शिवहरे की हत्या के आरोप में अंश जादौन को गिरफ्तार किया है।

त्रिकोणीय प्रेम प्रसंग में हुई चिराग शिवहरे की हत्या

उन्होंने बताया कि चिराग शिवहरे और अंश जादौन दोस्त थे, इनके बीच एक युवती द्रष्टि ग्रोवर आ गई थी , ये त्रिकोणीय प्रेम प्रसंग का मामला है, इसी के चलते अंश और द्रष्टि ने चिराग की हत्या की साजिश रची, अंश चिराग को लेकर डबरा से ग्वालियर आया उसने रास्ते में 315 बोर की कट्टे से अपनी कार में गोली मार कर हत्या कर दी फिर यूनिवर्सिटी थाना क्षेत्र में कलेक्ट्रेट के सामने स्थित पेट्रोल पम्प के पीछे झाड़ियों में उसके शव को जला दिया।

पुलिस ने षड्यंत्र में शामिल युवती को भी गिरफ्तार किया   

पुलिस को जब जले ही शव की जानकारी लगी तो उसकी तफ्तीश के दौरान मृतक की पहचान चिराग शिवहरे के रूप में हुई उसकी गुमशुदगी डबरा थाने में दर्ज थी, पुलिस ने अंश से पूछताछ की तो उसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया, पहले वो पुलिस को गुमराह करता रहा लेकिन पीआर में वो टूट गया, पुलिस ने अंश के पास से मृतक चिराग का मोबाइल, हत्या में प्रयुक्त कार जब्त कर ली है, पुलिस ने षड्यंत्र में शामिल द्रष्टि ग्रोवर को भी तकनीकी साक्ष्य के आधार पर गिरफ्तार कर लिया है , उसके मोबाइल में घटना के पहले और उसके बाद अंश से बातचीत की प्रमाण पुलिस को मिला है, फिलहाल पुलिस अंश की हालत पर नजर रखे हुए है।

ग्वालियर से अतुल सक्सेना की रिपोर्ट 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News