यहाँ पहुंची किसान आंदोलन की आग, 2 को किसान करेंगे दिल्ली कूच

उन्होंने कहा कि हमने तय किया है कि 2 दिसंबर को बड़ी संख्या में किसान एकत्रित होकर ट्रैक्टर ट्राॅली और चार पहिया गाड़ियों में 6-6 महीने का राशन भरकर दिल्ली कूच करेंगे।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। दिल्ली किसान आंदोलन (Delhi farmers movement) की आग अब ग्वालियर (Gwalior) भी पहुँच गई है। यहाँ भी किसान दिल्ली किसान आंदोलन को समर्थन देने के लिये लामबंद होने लगे हैं। रविवार को ग्वालियर में किसानों की मीटिंग हुई जिसमें तय किया गया कि 2 दिसंबर को सैकड़ों की संख्या में किसान ट्रैक्टर ट्राॅली और चार पहिया वाहनों में 6 महीने का राशन भरकर दिल्ली कूच करेंगे।

ग्वालियर जिले की ग्राम पंचायत घरसोदी के गुरुद्वारे पर रविवार को डबरा, भितरवार ,चीनौर सहित ग्वालियर संभाग के किसानों की बैठक आयोजित की गई जिसमें निर्णय लिया गया है कि केंद्र सरकार द्वारा लाये गए किसान विरोधी कृषि बिल का बहिष्कार किया जाए और दिल्ली में इस बिल को वापस लेने के लिए चल रहे किसान आंदोलन को समर्थन दिया जाए। बैठक में शामिल सरदार परगट सिंह ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ को फोन पर बताया कि ग्वालियर संभाग के किसान केंद्र सरकार के बिल को किसान विरोधी मानते है इसलिए इसे वापस लेने की मांग कर रहे हैं । उन्होंने कहा कि हमने तय किया है कि 2 दिसंबर को बड़ी संख्या में किसान एकत्रित होकर ट्रैक्टर ट्राॅली और चार पहिया गाड़ियों में 6-6 महीने का राशन भरकर दिल्ली कूच करेंगे। उन्होंने कहा कि कृषि बिल ने किसान की कमर ही तोड़ दी है इसलिए हम किसान बिल वापस कराने के लिए अपनी अंतिम सांस तक लड़ेंगे। परगट सिंह ने कहा कि हमारा संपर्क अभी जारी है। आंदोलन में शामिल होने के लिये किसान भाई अपने आगे आ रहे हैं, 2 दिसंबर को सुबह सभी किसान घरसोदी गुरुद्वारे पर इकट्ठा होंगे फिर डबरा ग्वालियर होते हुए दिल्ली कूच करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here