Gwalior News : मकर संक्रांति पर राज्य शासन ने दिया तोहफा, जेसी मिल के 189 श्रमिकों को मिले पट्टे

Gwalior News : मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर देश की प्रसिद्ध और रियासतकालीन जेसी मिल के श्रमिकों को उनके संघर्ष का सुखद फल मिला, आज शनिवार को प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने जेसी मिल के 189 परिवारों को पट्टे वितरित किये।

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने जेसी मिल श्रमिकों को कम्यूनिटी हॉल कांचमील में आयोजित कार्यक्रम में पट्टे वितरित करते हुए कहा कि यह एक ऐतिहासिक उपलब्धि है कि लंबे समय तक अपने अधिकारों के लिए संघर्षरत रहे हमारे जेसी श्रमिक परिवारों को अब उनका हक मिलने जा रहा है। यह सब आप सबके कारण ही सम्भव हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि अभी तो पट्टे देने की प्रक्रिया शुरू हुई है। हमारा प्रयास है कि जेसी मिल के श्रमिकों का लंबित भुगतान भी हो।

189 परिवारों को किए पट्टा वितरण

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आए दिन उन जेसी मिल के सैकड़ों परिवारों को अपने घरों को लेकर डर लगा रहता था, कई लोग भ्रामक एवं असत्य जानकारियां फैलाकर तरह-तरह की बातें करते रहते थे, लेकिन मेरा संकल्प था जब तक अपने जेसी श्रमिक भाइयों को उनका हक नहीं दिला देता तब तक मैं चैन से नही बैठूँगा। आपको आज पट्टा वितरित करते समय बहुत ही खुशी हो रही है। उन्होंने कहा कि लाइन नम्बर 1, 2 3ए, 8 व असिस्टेंट लाइन के एक हजार से अधिक परिवारों को पट्टा देने का कार्य किया जाएगा। आज 189 परिवारों को पट्टा वितरण किया जा रहा है।

Gwalior News : मकर संक्रांति पर राज्य शासन ने दिया तोहफा, जेसी मिल के 189 श्रमिकों को मिले पट्टे

मोतियाबिंद के हुए सफल ऑपरेशन

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि उपनगर में विकास की श्रंखला निरंतर जारी है। स्वास्थ्य व शिक्षा के क्षेत्र में अतुलनीय कार्य किया जा रहा है। सभी वार्डों में संजीवनी क्लीनिकों का निर्माण किया जा रहा हैं। जहां आपको निशुल्क प्राथमिक उपचार मिल सके। सिविल अस्पताल में सभी सुविधायें सुचारू रूप से चालू हो चुकी हैं अभी तक अस्पताल में 400 से अधिक मोतियाबिंद के सफल ऑपरेशन हो चुके हैं। साथ ही डायलासिस की सुविधा भी है। इसके साथ ही सीएम राइज विद्यालय बनाये जा रहे हैं। जहां हमारे नौनिहालों को प्राइवेट स्कूल से भी वेहतर शिक्षा मिलेगी।
ग्वालियर से अतुल सक्सेना की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News