T20 World Cup: ऑनलाइन सट्टे की ट्रेनिंग ली, बड़ी टाउनशिप में शुरू किया कारोबार, 3 हजार क्लाइंट बनाने का मिला टारगेट, चार आरोपी गिरफ्तार

मुख्य आरोपी ने बताया कि उसे शहर में तीन हजार क्लाइंट बनाने का टॉस्क मिला है। अभी तक 700 ग्राहक तैयार कर चुका है। उसने बताया कि सट्टा कारोबार शुरू करने से पहले  उसे और उसके साथियों को झांसी बुलाकर ट्रेनिंग दी गई थी।

Atul Saxena
Published on -
Gwalior online betting

T20 World Cup: ग्वालियर पुलिस ने शहर की सबसे बड़ी और पॉश टाउनशिप डीबी सिटी में बहुत ही ऑर्गेनाइज्ड तरीके से चलाये जा रहे ऑनलाइन सट्टे के अड्डे पर बीती रात छापा मारकर चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है, सभी आरोपी ग्वालियर के ही हैं, ये लोग भारत -अफगानिस्तान विश्व कप मैच पर सट्टा खिलवा रहे थे, पुलिस पूछताछ में पता चला है कि इन लोगों ने बाकायदा ऑनलाइन सट्टा खिलवाने की ट्रेनिंग ली है।

DB सिटी में चलता मिला सट्टे का ऑनलाइन कारोबार 

पुलिस को जानकारी मिली थी कि शहर के सिरोल थाना क्षेत्र में स्थित टाउनशिप में  रेडडी अन्ना ऑनलाइन सटटे का गैरकानूनी कारोबार चलता है। यहाँ कुछ लोग किराये का फ़्लैट लेकर ये काम कर रहे हैं, पुलिस जब डीबी सिटी के  फ्लैट नंबर A-801 पर पहुंची तो वहां चार लोग लेपटॉप और मोबाइल पर ऑनलाइन सट्टा खिलवाते मिले।

फ़्लैट से पुलिस ने चार आरोपी गिरफ्तार किये 

पुलिस को फ़्लैट में लेपटॉप, मोबाइल के अलावा हिसाब किताब की डायरी मिली। पुलिस ने यहाँ से शंकर कुशवाह, राज जाटव, कादिर खान और राघव तोमर को गिरफ्तार किया,  ये लोग मुरार और महाराजपुरा क्षेत्र के रहने वाले हैं। पूछताछ में सरगना शंकर कुशवाह ने खुलासा किया कि अन्ना रेडडी के सटटा कारोबार से जुडे लोगों के जरिए उसने भी धंधे की लिंक खरीदी थी। उसके बाद डीबी सिटी में सटटा कारोबार के लिए फ़्लैट 25 हजार रुपए महीना किराए पर लेकर कारोबार जमाया।

तीन हजार क्लाइंट बनाने का मिला टॉस्क 

उसने बताया कि उसे शहर में तीन हजार क्लाइंट बनाने का टॉस्क मिला है। अभी तक 700 ग्राहक तैयार कर चुका है। शंकर ने  बताया कि सट्टा कारोबार शुरू करने से पहले उसे और उसके साथियों को झांसी बुलाकर ट्रेनिंग दी गई थी। शहर में किसे ग्राहक बनाया जा सकता है किसे नहीं ये भी बताया गया था।

हर महीने कर रहे थे 40 लाख रुपये की बुकिंग  

उसने बताया कि बडे शहरों में बैठकर कारोबार कर रहे लोग पीडीएफ फाइल से उन्हें जानकारियां भेजते हैं उसके हिसाब से यहां टीम काम करती है। एक ग्राहक बनाने के एवज में 10 प्रतिशत कमीशन मिलता है। सटोरियों ने खुलासा किया अभी पांच महीनों में उन्होंने धंधा जमा लिया था, वे हर महीने करीब 40 लाख रुपए की बुकिंग कर रहे हैं। इसमें 4 लाख रुपया महीने उनकी कमाई रहती है कमीशन काट कर पूरी रकम हम ऊपर खातों में ट्रांसफर करते हैं।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News