Indore News : लाखों रुपए के जेवरात की नकबजनी का 24 घंटे में पर्दाफाश, दो आरोपी गिरफ्तार

पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि दोनों आरोपी महंगे शौक रखते थे और इसी कारण उन पर काफी कर्ज हो गया था। कर्ज चुकाने के लिए वह सुनसान इलाकों में घर की रेकी करते और फिर घटना को अंजाम देने के बाद फरार हो जाते फिलहाल इस घटना के बाद पुलिस अन्य थाना क्षेत्र में हुई चोरी की वारदातों के बारे में भी पूछताछ कर रही है।

Amit Sengar
Published on -
Indore Police

Indore News : इंदौर राजेंद्र नगर पुलिस ने ऐसे शातिर चोरों को गिरफ्तार किया है जो अपने महंगे शोक की वजह से कर्ज में डूब गए थे और फिर कर्ज उतारने के लिए सुने मकान की रेकी कर चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। लेकिन बुरे काम काम का बुरा नतीजा घटना को अंजाम दिया और अब पुलिस के हत्थे चढ़े।

क्या है पूरा मामला

दरअसल, इंदौर के राजेंद्र नगर थाना क्षेत्र के वीआईपी परस्पर नगर में टीसीएस कर्मचारियों के घर कुछ बदमाशों ने चोरी की वारदात को अंजाम दिया था और घर से लाखों रुपए का गोल्ड और नगदी लेकर फरार हो गए थे। पुलिस ने इस मामले में टीम गठित कर 24 घंटे में ही शत प्रतिशत माल बरामद करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों से 17 लाख रुपए कीमत के सोने चांदी के जेवर और नकदी जप्त की है। आरोपी हरीश बिडारे और राज राठौड़ इस घटना में शामिल है। दोनों इंदौर के चन्दनगर क्षेत्र के रहने वाले है। पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि दोनों आरोपी महंगे शौक रखते थे और इसी कारण उन पर काफी कर्ज हो गया था। कर्ज चुकाने के लिए वह सुनसान इलाकों में घर की रेकी करते और फिर घटना को अंजाम देने के बाद फरार हो जाते फिलहाल इस घटना के बाद पुलिस अन्य थाना क्षेत्र में हुई चोरी की वारदातों के बारे में भी पूछताछ कर रही है।

indore news

घटना के बाद इलाके की एसीपी की देखरेख में एक टीम तुरन्त लगाई गई साथ ही थानों से डीसीपी की टीम भी लगी नकबजनी का खुलासे करने में फॉरेंसिक टीम, टेक्निकल टीम सीसीटीवी ओर ज़मीनी मुखबिरी की मदद से पूरे मामले का खुलासा किया गया। घटना में शामिल आरोपियों से लाखों रुपए का मश्रुका भी पुलिस ने जप्त करते हुए 24 घण्टे से भीतर ही नकबजनी का खुलासा किया। इस खुलासे में एसीपी गांधी नगर रुबीना मिजवानी ओर राजेन्द्र नगर थाना प्रभारी सियाराम गुर्जर सहित उनकी टीम का सराहनीय योगदान रहा।

इंदौर से शकील अंसारी की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News