इंदौर-खण्डवा मार्ग पर श्रावण मास में नहीं चलेंगे भारी वाहन, आदेश जारी

Amit Sengar
Published on -

Indore News : श्रावण मास में कावड़ यात्रियों की सुरक्षा देखते हुए प्रशासन ने इंदौर-खण्डवा मार्ग पर भारी वाहनों की आवाजाही दिन के समय प्रतिबंधित की गई है। प्रशासन ने आदेश जारी किया गया है। जारी आदेश के अनुसार श्रावण मास में बड़ी संख्या में कावड़ यात्री इन्दौर की ओर से ओंकारेश्वर एवं ओंकारेश्वर की ओर से इंदौर आते-जाते है। इसी मार्ग पर भारी वाहनों का भी निरंतर आवागमन होने के कारण यातायात का अत्यधिक दबाव इस क्षेत्र में रहता है और इस दौरान सदैव दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।

बता दें कि कावड़ यात्रा में बड़ी संख्या में श्रद्धालु के शामिल होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। श्रावण मास में बड़ी संख्या में ओंकारेश्वर में नर्मदा स्नान और दशनार्थ खंडवा जिले और आसपास के जिलों से श्रद्धालुओं के आगमन होता है। इंदौर-खण्डवा अत्यंत व्यस्ततम सड़क मार्ग है। इसमें भारी और हल्के वाहन का आवागमन निरंतर रूप से चलता रहता है। जिसको ध्यान में रखते हुये इंदौर से खण्डवा की ओर जाने वाले एवं खण्डवा से इंदौर की ओर आने वाले ट्रक, भारी वाहनों हेतु प्रात: 8 बजे से रात्रि 9 बजे तक के लिये प्रतिबंध लगाया गया है। यह केवल श्रावण मास हेतु लागू रहेगा। यह वाहन ए.बी. रोड़ होते हए सनावद की ओर जा सकेंगे।

यह वाहन प्रतिबंध से रहेंगे मुक्त

आदेशानुसार, इसमें दुग्ध वाहन, नगर निगम की स्वास्थ सेवाओं में लगे वाहन, पुलिस वाहन, फायर ब्रिगेड़, पानी के टेंकर, आर्मी के वाहन, विद्युत मण्डल के कार्य में संलग्न वाहन एलपीजी, पेट्रोलियम पदार्थ वाहन, कृषि उपज मण्डी में सब्जी ले जाने वाले वाहन, यात्री बसे मुक्त रहेंगे। यह प्रतिबंध केवल भारी वाहनों के लिये है, शेष हल्के वाहन जैसे कार, जीप तथा दुपहिया वाहन चालू रहेंगे।
इंदौर से शकील अंसारी की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News