पुलिस की गिरफ्त में मोबाइल स्नेचर, नशे की लत पूरे करने के लिए देते थे वारदात को अंजाम

Indore Crime News : इंदौर में लगातार चोरी, लूट और डकैती जैसे अपराध बढ़ते जा रहे हैं। आए दिन बदमाश ऐसी वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। जिसके लिए अब इंदौर पुलिस भी सख्त हो गई है। दरअसल, इन वारदातों को रोकने के लिए इंदौर पुलिस कमिश्नर मकरंद देउस्कर के द्वारा सभी थानों की पुलिस को कार्यवाई करने के निर्देश दिए हैं। जिसके बाद मिले आदेश का पालन करते हुए थाना खजराना पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर दो मोबाइल स्नेचरों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की हैं।

यह है पूरा मामला

हाल ही में शातिर मोबाईल स्नेचर थाना खजराना पुलिस ने गिरफ्तार किया है। साथ ही उनसे 1,00,000 हजार रुपये के सामान जब्त किए गए है। आरोपी सुनसान रास्तों पर राहगीरों को निशाना बना कर उनसे सामान चुरा कर फरार हो जाते थे। आरोपी अपने नशे का शौक को पूरा करने के लिए इस वारदात को आरोपियों ने अंजाम दिया।

aaropi

जानकारी के मुताबिक, पकड़े गए आरोपी की पहचान दीपक पिता घनश्याम बड़ेरिया 20 साल निवासी सरस्वती नगर इंदौर, सुमित पिता देवकरण गोस्वामी 18 साल निवासी बाबा मनसब नगर खजराना की गई। आरोपियों से पुलिस टीम द्वारा पूछताछ की जा रही है। आरोपियों ने तीन मोबाइल लूट की घटनाएं करना स्वीकार किया लूट में इस्तेमाली मोटरसाइकिल एचएफ डिलक्स एवं लूट गया मशरूका तीन मोबाइल फोन जप्त गए।

इंदौर से शकील अंसारी की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News