Indore News : पुलिस ने ढाई महीने पुरानी हत्या का किया खुलासा, दो आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने आरोपी गौरव को पकड़ने के बाद मनोवैज्ञानिक तरीके से उससे पूछताछ की जिससे पूरे मामले का खुलासा हो गया।

Amit Sengar
Published on -
arrest

Indore News : इंदौर के शिप्रा थाना पुलिस ने ढाई महीने पुरानी हत्या का खुलासा करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, आरोपियों में एक युवती भी शामिल है। दरअसल शिप्रा थाना पर 26 अप्रैल को एक शिकायत दर्ज की गई थी जिसमें की एक पिता ने अपनी बेटी सय्यद सहारा के गायब होने की बात कही थी, सैयद इंदौर के निजी कॉलेज में बी फार्मा फर्स्ट ईयर में पढ़ाई कर रही थी, पुलिस ने जब अपनी जॉच शुरू की तो सहारा के दोस्तों से पूछताछ में पता चला कि सहारा बी फार्मा के ही एक और स्टूडेंट गौरव के साथ गाड़ी में जाती हुई देखी गई थी, इसके बाद पुलिस ने गौरव से भी पूछताछ की लेकिन पुलिस की सख्ती करने पर गौरव इंदौर छोड़कर फरार हो गया।

क्या है पूरा मामला

पुलिस को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई थी कि गौरव नासिक में एक ढाबे में वेटर का काम कर रहा है, जिसके बाद पुलिस ने गौरव को गिरफ्तार किया और उससे पूछताछ की तो उसने अपना अपराध कबूल किया, पुलिस पूछताछ में गौरव ने बताया कि गौरव और सहारा एक ही कॉलेज में एक ही क्लास में पढ़ते थे और आरोपी मृतका को पसंद करता था। लेकिन सहारा किसी ओर को पसंद करती थी जो गौरव को पसंद नहीं थी। गौरव सहारा के साथ रहते हुए स्निग्धा नाम की एक अन्य स्टूडेंट से भी रिलेशनशिप में था। सहारा के साथ लगातार हो रहे विवाद के बाद गौरव ने अपनी दोस्त स्निग्धा के साथ मिलकर उसे मारने की योजना बनाई।

योजना के अनुसार गौरव सहारा को कार में लेकर घूमने निकला और सुनसान इलाके में ले जाकर अपने दोस्त स्निग्धा के साथ मिलकर शहर की हत्या कर दी हत्या करने के बाद दोनों आरोपियों ने शव को झाड़ियां में फेंक दिया और वापस शहर में आकर रहने लगे पुलिस ने आरोपी गौरव को पकड़ने के बाद मनोवैज्ञानिक तरीके से उससे पूछताछ की जिससे पूरे मामले का खुलासा हो गया।

इंदौर से शकील अंसारी की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News