Indore News : फर्जी लिंक भेजकर ठगी करने वाले तीन शातिर गिरफ्तार, अब तक कई लोगों को बनाया शिकार

Amit Sengar
Published on -
indore

Indore News : इंदौर के ही रहने वाले 2 लोगों ने अपने साथ हुई ठगी की शिकायत सबूतों के साथ पुलिस में दर्ज कराई अधिकारियों ने ठगी का शिकार हुए लोगों को सुनने के बाद मामले में मुकदमा दर्ज करते हुए शिकायत के मामले में पड़ताल शुरू की पुलिस की खोजबीन के बाद 3 लोगों को पकड़ा गया है जिन्होंने लिंक के माध्यम से सभी वारदात को अंजाम दिया।

यह है मामला

क्रेडिट कार्ड पर रिवार्ड पॉइंट रीडिंग करने के नाम पर ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गैंग को इंदौर क्राइम ब्रांच ने पकड़ा है पकड़े गए आरोपी बैंक के समान हूबहू दिखने वाली फर्जी वेबसाइट बनाने वाला डेवलपर और संचालक सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी के कब्जे से 28 वेबसाइट डोमेन ईमेल आईडी सहित 62 सिम कार्ड 6 मोबाइल लैपटॉप सहित अन्य सामग्री क्राइम ब्रांच ने बरामद की है।

इंदौर क्राइम ब्रांच एक बड़ी कार्यवाही करते हुए क्रेडिट कार्ड पर रीवार्ड प्वाइंट रीडिंग करने के नाम पर ठगी करने वाले एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है पुलिस की टीम ने एक वेबसाइट से करीब 200 से अधिक लोगों के साथ ठगी करना पकड़े गए आरोपियों से मालूम किया है पुलिस द्वारा जप्त की गई अन्य वेबसाइट का डाटा सहित अन्य जानकारी निकाली जा रही है माना जा सकता है कि निकलने वाला डाटा जो लगभग 2000 से अधिक लोगों के साथ ठगी का होगा। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि फरियादी रितेश और जितेंद्र को आरबीएल बैंक के क्रेडिट डिपार्टमेंट का अधिकारी बनकर फर्जी कॉल करके क्रेडिट कार्ड पर रिकॉर्ड प्वाइंट्स रिडीम करने के नाम पर फरियादी को फर्जी वेबसाइट लिंक भेजी और उसमें बैंक डिटेल और क्रेडिट कार्ड जानकारी समित कराते हुए आवेदक रितेश के आरबीएल बैंक क्रेडिट कार्ड से रुपए ऑनलाइन ठगी की मारुति में रितेश कुमार के द्वारा वेबसाइट डेवलप्ड की जाती थी और उसके बाद साथिया आरोपी के द्वारा लोगों को कॉल करके रीवार्ड प्वाइंट रेडियम करने के नाम से फर्जी लिंक भेज कर ठगी की वारदात को अंजाम देते थे।
इंदौर से शकील अंसारी की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News