इंदौर पुलिस ने चलाया चेकिंग अभियान, हेलमेट नहीं लगाने वाले चालकों को दी हिदायत

Indore News : सुधार की प्रकिया यदि घर से हो तो सुधार तेजी से ओर कारगार साबित होता है। कुछ ऐसा ही शहर के ट्रैफिक को सही दिशा में लाने और असमय दुर्घटनाओं में होने वाली अनहोनी को रोकने का बेहतर करने के लिए इंदौर पुलिस ने कार्रवाई की है। जिसका बेहतर तरीका सीट बेल्ट और हेलमेट लगाना है। पुलिस कमिश्नर मकरन्द देउस्कर के निर्देश पर ट्रैफिक पुलिस ने गुरुवार को पुलिस मुख्यालय पलासिया से चेकिमग अभियान चलाया और बिना हेलमेट वाहन चालकों को समझाइश के साथ-साथ पांच चालान भी बनाए गए।

वाहन चालक को दी हिदायत

दरअसल, इंदौर पुलिस द्वारा दो पहिया वाहन चालक को हेलमेट लगाने की हिदायत दी। साथ ही, पुलिस ऑफ हेलमेट का उपयोग नहीं करने वालों को अर्थ दंड से दंडित किया। पूरे शहर के सभी चौराहों पर अनाउंसमेंट करते हुए हेलमेट की उपयोगिता और हेलमेट से बचाव के तरीके के साथ-साथ हेलमेट न लगाने वालों पर चालान नहीं कार्रवाई भी की जा रही है।

5 पुलिसकर्मियों के बनाएं चालान

इसी क्रम में इंदौर पुलिस कमिश्नर मकरंद देवसर के दिशा-निर्देश पर ऐसे पुलिसकर्मी जो हेलमेट नहीं लगते हैं या बगैर हेलमेट लगाए गाड़ी चलाते हैं उन पर भी चालानी कार्रवाई की गई। जिसकी शुरुआत इंदौर पुलिस कमिश्नर कार्यालय पलासिया से करते हुए ट्रैफिक के वरिष्ठ अधिकारियों ने पूरे हमले के साथ पहुंचकर 5 पुलिसकर्मियों के चालान भी बनाएं।

DCP ने कही ये बात

मामले को लेकर ट्रैफिक DCP मनीष अग्रवाल ने इस अभियान को शक चलने वाले कार्रवाई बताया। हेलमेट जागरूकता को लेकर शहर के चौराहे और पुलिस कार्यालय पर यह कार्यवाही जारी करने की बात कही।

इंदौर से शकील अंसारी की रिपोर्ट


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News