Jabalpur News : भारी वर्षा से लबालब हुआ बरगी बांध, आज रात खोले जायेंगे 15 गेट, अलर्ट जारी

Jabalpur News : मानसून की तेज बारिश ने जबलपुर और इसके आसपास के क्षेत्रों में सराबोर कर दिया है और बरगी बांध को पूरा भर दिया हैं, बांध में लगातार पानी बढ़ने से अब सिंचाई विभाग ने जल स्तर को मेंटेन करने की प्लानिंग कर ली है।  वरिष्ठ अधिकारियों ने बांध के जलस्तर को देखते हुए तय किया है कि बांध का जल स्तर बढ़ने की स्थिति में आज रात 8 बजे के आसपास 15 गेटों को खोला जायेगा। विभाग ने इसके लिए बांध के आसपास रहने वालों के लिए अलर्ट जारी कर दिया है।

आज रात खोले जायेंगे 15 गेट 

रानी अवंति बाई लोधी सागर परियोजना बरगी बांध के जलस्तर को नियंत्रित करने आज गुरुवार 3 अगस्त की रात 8 बजे 21 में से 15 गेट (जलद्वारों)  को औसतन 1.76 मीटर ऊंचाई तक खोलने का निर्णय परियोजना प्रशासन ने लिया है। कार्यपालन यंत्री बरगी बांध अजय सूरे ने यह जानकारी देते हुये बताया कि बरगी बांध के जलग्रहण क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश के कारण इसका जलस्तर बढ़ता जा रहा है।

बांध में 13 हजार घन मीटर जल लगातार आ रहा है 

विभाग द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक गुरुवार की दोपहर इसका जलस्तर 420 मीटर हो दर्ज किया गया था। बांध में 13 हजार घन मीटर जल की आवक लगातार हो रही है, जिसे इसे देखते हुए आज 3 अगस्त की रात 8 बजे लगभग 4 हजार 017 क्युमेक (1 लाख 41 हजार 860 क्यूसेक) जल की निकासी की जायेगी । इसके लिये बांध के 15 गेट 1.76 मीटर औसत उंचाई तक खोले जायेंगे।

नर्मदा का जलस्तर 30 से 36 फीट बढ़ने की सम्भावना  

कार्यपालन यंत्री ने बताया कि बांध से पानी छोड़े जाने से निचले क्षेत्र में नर्मदा नदी के जल स्तर में 30 से 36 फीट तक की बढ़ोतरी हो सकती है । उन्होंने निचले क्षेत्र के रहवासियों से नर्मदा नदी के घाटों से सुरक्षित दूरी बनाये रखने का अनुरोध किया है। सूरे ने बताया कि बांध में पानी की आवक को देखते हुये जल निकासी की मात्रा घटाई या बढ़ाई भी जा सकती है।

19 जुलाई को खोले गए थे 5 गेट 

आपको बता दें कि पिछले दिनों बांध का जलस्तर बढ़ने पर 19 जुलाई को बांध के 5 गेट खोले गए थे और पानी की निकासी  की गई थी अब चूँकि बारिश लगातार जारी है तो बांध में पानी की मात्रा लगातार बढ़ रही है, अधिकारियों ने बांध के आसपास रहने वाले लोगों से इस दौरान सतर्क रहने और नर्मदा के घाटों से पर्याप्त दूरी बनाने की अपील की है।

जबलपुर से संदीप कुमार की रिपोर्ट


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News