भिंड में मिलावटखोर के खिलाफ सख्त कार्रवाई, हजारों लीटर दूध-घी पकड़ा गया

भिंड, सचिन शर्मा। मुख्यमंत्री म.प्र. शासन द्वारा माफियाओं के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही के निर्देश रावतपुरा प्रवास के दौरान दिये गये थे इसी तारतम्य में कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस एवं पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्र सिंह चौहान के निर्देशन में डीएसपी हेड क्वार्टर पूनम थापा एवं थाना प्रभारी ऊमरी विनय सिंह तोमर दल बल के साथ एवं खाद्य सुरक्षा अधिकारी अवनीश गुप्ता एवं रीना बंसल के द्वारा ग्राम अकोडा पथवरिया माता मंदिर के पास स्थित नीलकमल दुग्ध डेयरी पर छापामार कार्यवाही की गई।

यह भी पढ़ें… JABALPUR- एल्गिन अस्पताल में देर रात मचा हड़कंप, नवजात यूनिट में रुकी आक्सीजन की सप्लाई

डेयरी पर हरिकमल शर्मा पुत्र कमलेश शर्मा उपस्थित थे। उन्होंने बताया कि डेयरी का कारोबार उनके भाई नीलकमल शर्मा द्वारा किया जा रहा है। हरिकमल शर्मा से डेयरी का लायसेंस मांगे जाने पर उन्होंने बताया कि भाई के पास है। मौके पर घर के निचले हिस्से में दुग्ध संग्रहण का कार्य किया जा रहा था मौके पर एक कमरे में 03 बोरी (75 कि.ग्रा.) सफेद पाउडर तथा 01 प्लास्टिक के ड्रम में 32 लीटर लगभग दूध बनाने का तैयार घोल रखा हुआ था।

एक अन्य कमरे में 02 टंकियों में लगभग 41 किलो घी रखा हुआ था। डेयरी परिसर में वनस्पति की एक लीटर की 15 खाली थैली भी पायी गई तथा डेयरी के बाहर खडे एक टेंकर में लगभग 3200 लीटर मिश्रित दूध तथा डेयरी में 02 ड्रमों में लगभग 300 लीटर दूध संग्रहित गया। खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा मौके पर खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 के अंतर्गत दूध, पाउडर, घी एवं दूध बनाने का तैयार घोल के नमूने जांच हेतु लिये गये। नमूना उपरांत शेष बची सामग्री को नियमानुसार डेयरी में पाये गये घी एवं अपद्रव्य सामग्री को जप्त किया गया। जप्त शुदा सामग्री का मूल्य 25280 रुपये है। खाद्य सुरक्षा अधिकारी रीना बंसल के आवेदन पर थाना ऊमरी में आरोपीगण हरिकमल शर्मा, नीलकमल शर्मा पुत्रगण कलमेश शर्मा निवासीगण अकोडा के विरुद्ध धारा 420, 272, 273, 34 भा.द.वि. के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया।