मुरैना में अज्ञात कारणों के चलते मरी हजारों मछलियां, बदबू से ग्रामीण हो रहे परेशान

मुरैना के हरिहरपुरा गांव के तालाब में अचानक किसी अज्ञात कारणों से हजारों की तादात में मछलियां मरी हुई पाई गईं।

मुरैना, संजय दीक्षित। मुरैना (Morena) के पोरसा के कुरेठा पंचायत के हरिहरपुरा गांव के तालाब में अचानक किसी अज्ञात कारणों से हजारों की तादात में मछलियां ( fishes) मरी हुई पाई गईं। ग्रामीणों की मानें तो पिछले 4 दिनों से मछलियां मरना शुरू हो गई थी। और अभी तक करीबन 5 हजार मछलियां मर चुकी है। वहीं इतनी ज्यादा तादात में मछलियों के मरने के कारण भयानक बदबू आ रही है। जिससे क्षेत्रवासियों को काफी परेशानी हो रही है।

यह भी पढ़ें…तुलसी सिलावट ने दी सफाई, कहा- ‘किसी भी जांच के लिये तैयार’

जानकारी के अनुसार तालाब गांव के एकदम बीचो-बीच में बना हुआ है। और ऐसे में इतनी साड़ी मछलियों के एक साथ मरने से लोगों को बीमारी फैलने की आशंका हो रही है। ग्रामीणों को एक तरफ कोरोना का भय सता रहा है। तो दूसरी तरफ मछलियों के मरने की खबर से गांव में हाहाकार मचा हुआ है। गांव के लोगों ने फोन पर कई बार इसकी शिकायत तहसीलदार पोरसा एवं जनपद सीईओ पोरसा से की लेकिन कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा है। जिससे गांव में आक्रोश का माहौल है। ग्रामीणों का कहना है कि बदबू इतनी भयानक आ रही है कि लोगों का वहां रहना मुश्किल हो गया है। लोगों ने क्षेत्र के डॉक्टर पर आरोप लगाते हुए कहा कि सबसे बड़ी लापरवाही डाक्टर की आ रही है, क्युकी सूचना मिलने के बाद भी पशु डॉक्टर मौके पर नहीं पहुंचे। गांव के लोगों ने पशु हॉस्पिटल में कई बार फोन लगाया लेकिन अभी तक हॉस्पिटल से कोई भी टीम मौके पर नहीं पहुंची हैं।

इधर इस बारे में सरपंच देवानंद कुशवाह का कहना है कि मछलियां तो मरी है। ऐसा लगता हैं कि किसी ने जहरीला केमिकल डाल दिया है। जिससे मछलीयां मर रही है। साथ ही स्थानीय डॉक्टर विलकेश शर्मा का कहना है कि मछली को मत्स्य विभाग देखता है उनकी निगरानी में ही टीम पहुँचकर कार्य करेगी।

यह भी पढ़ें…जबलपुर में मिट्टी का ढेर धसने से कई मजदूर दबे, तीन की हालत गंभीर