”सिवनी जम्बो सीताफल” खुश हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान, कही ये बड़ी बात

गौरतलब है कि सिवनी जिले में 656 हेक्टेयर क्षेत्र में 6500 मीट्रिक टन से अधिक सीताफल का उत्पादन होता है। सीताफल का वजन 600 से 700 ग्राम होने से इसका नाम ''सिवनी जम्बो सीताफल'' रखा गया है।

सिवनी, डेस्क रिपोर्ट।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने आज सिवनी में ”एक जिला-एक उत्पाद” कार्यक्रम (MP “One District One Product” Progra)  के  अंतर्गत उत्पाद ”सिवनी जम्बो सीताफल” (Seoni Jumbo Sitaphal) का अवलोकन किया। मुख्यमंत्री सीताफल के जम्बो आकार, विशिष्ट गुण तथा स्वाद आदि के संबंध में जानकारी प्राप्त करने क ेबाद बहुत खुश हुए।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने “सिवनी जम्बो सीताफल” को लोकप्रिय बनाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा किए जा रहे प्रयास पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने निर्देश दिए कि “सिवनी जम्बो सीताफल” उत्पादक किसान और इसका प्र-संस्करण कर पल्प और अन्य उत्पाद बनाने वाली आजीविका मिशन की बहनों को उनके उत्पाद का बेहतर मूल्य दिलाना सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री ने ब्रांड की बेहतर मार्केटिंग कर देश- प्रदेश में इसे लोकप्रिय बनाने के भी निर्देश दिये।

ये भी पढ़ें – चप्पल छोड़ने वाले मंत्रीजी से विभाग के कर्मचारी ही नाराज, प्रदर्शन कर कही यह बात

गौरतलब है कि सिवनी जिले में 656 हेक्टेयर क्षेत्र में 6500 मीट्रिक टन से अधिक सीताफल का उत्पादन होता है। सीताफल का वजन 600 से 700 ग्राम होने से इसका नाम ”सिवनी जम्बो सीताफल” रखा गया है। अपने विशिष्ट आकार तथा स्वाद से इसकी देश-प्रदेश में अच्छी माँग है। इसे विशिष्ट पहचान दिलाने के लिए आजीविका मिशन के महिला स्व-सहायता समूह की सहभागिता से सीताफल की पल्प यूनिट प्रारंभ की गई है और एफपीओ का गठन किया गया है।

ये भी पढ़ें – उमा भारती का खुलासा, ’30 साल पहले ले चुकी संन्यास, फिर से नहीं बदलेगा नाम’

इस अवसर पार सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम एवं प्रभारी मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा, सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन, विधायक दिनेश राय और राकेश पाल मौजूद थे।