शहडोल मेडिकल कॉलेज में बाहरी तत्वों ने मचाया हंगामा, छात्रों से की मारपीट

Shahdol News: शहडोल के बिरसा मुंडा गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज में कुछ बाहरी तत्वों द्वारा हंगामा और तोड़फोड़ किए जाने की खबर सामने आई है। जब मेडिकल कॉलेज के छात्रों ने इनका विरोध किया तो ये लोग उनके साथ ही मारपीट करने लगे। मामला बढ़ता देख पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल शुरू की।

बताया जा रहा है कि कुछ बाहरी लोग पिछले कुछ दिनों से गर्ल्स हॉस्टल के चक्कर काट रहे हैं और यहां रहने वाली छात्राओं को अभद्र भाषा का उपयोग करते हुए परेशान कर रहे हैं। जब इन लोगों को कॉलेज के कुछ छात्रों ने रोकने की कोशिश की तो यह मारपीट करने लगे और उन पर गाड़ी चढ़ाने का भी प्रयास किया।

कॉलेज में मौजूद सिक्योरिटी गार्ड ने जब बदमाशों को रोकने की कोशिश की तो इन्होंने वहां लगे बैरिकेट्स को तोड़ते हुए मेन गेट पर गार्ड के ऊपर भी गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की। गार्ड ने गेट बंद कर दिए थे जिसके चलते उत्पात मचाने वाले गाड़ी सहित बाहर नहीं निकल सके। हालांकि, गाड़ी में सवार इनमें से चार युवक गेट कूदकर भागने में सफल रहे। हैरानी की बात तो यह है कि इनके साथ एक 12 साल का लड़का भी था जो नहीं कूद पाया।

इसके बाद गाड़ी चला रहे युवक ने तेज रफ्तार से गाड़ी को घुमाया और अस्पताल के पीछे वाले रास्ते पर ले जाकर दीवार कूदकर भाग निकला। सुरक्षाकर्मियों ने गाड़ी में बैठे बालक को पकड़ लिया। कुछ देर बाद भागे हुए युवक 20 से ज्यादा हथियार बंद बदमाशों को लेकर यहां पहुंचे और हमला कर दिया। इन लोगों के पास हॉकी, बेसबॉल बैट, साइकिल की चैन और तलवार थी। जिससे उन्होंने वहां मौजूद सुरक्षाकर्मी और छात्रों पर हमला कर दिया। इस हमले में कुछ छात्र घायल हुए हैं, सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे प्रोफेसर और डॉक्टरों पर भी बदमाशों ने हमला कर दिया।

घटनाक्रम को लेकर मेडिकल कॉलेज के डीन का कहना है कि बाहरी लोग मेडिकल परिसर में मारपीट कर रहे थे। पहले भी यहां इस तरह की घटना इन्हीं लोगों के द्वारा की गई है। कई छात्र घायल हो गए हैं और उन्होंने बताया है कि बाहरी तत्व तेज साउंड में गाना बजाने के साथ डिस्को लाइट जला रहे थे और परिसर में घूम रहे थे। जब उनका विरोध किया गया तो वह मारपीट करने लगे।