कर्मचारियों को मिला बड़ा तोहफा, अब अवकाश के साथ पूरे वेतन का लाभ, भत्ते में भी वृद्धि, ये होंगे पात्र, कैबिनेट की मंजूरी

विभिन्न विभागों में तैनात सहायक अभियंताओं और अलग-अलग संवर्गों के उन कर्मचारियों को वाहन भत्ते की सौगात दी है, जिन्हें सरकारी कार्यों के लिए अल्प दूरी की यात्राएं करनी होती हैं। इसके तहत कर्मचारियों को अब 1200 से लेकर 4000 तक भत्ते का लाभ मिलेगा। पहले 200 से 2700 तक था।

hp news

Uttarakhand Leave /Special Allowance Benefit 2024 : उत्तराखंड के सरकारी कर्मचारियों अधिकारियों के लिए खुशखबरी है। पुष्कर धामी सरकार ने कर्मचारियों के हित में 2 बड़े फैसले लिए है। पहला प्रदेश की महिला सरकारी सेवकों और एकल अभिभावकों को अब बाल्य देखभाल अवकाश के दूसरे वर्ष में भी पूरा वेतन मिलेगा।दूसरा विभिन्न विभागों में सहायक अभियंताओं को वाहन भत्ता अनुमन्य।कैबिनेट ने इन दोनों प्रस्तावों पर मुहर लगा दी है, जिसके बाद सचिवालय संघ ने मुख्यमंत्री व सभी अफसरों का आभार जताया है।

दरअसल, पिछले साल जून 2023 में राज्य सरकार ने एक आदेश जारी किया था, जिसके तहत महिला सरकारी सेवकों के साथ एकल अभिभावक महिला एवं पुरुष को इस शर्त पर दो वर्ष का बाल्य देखभाल अवकाश मिलेगा कि पहले वर्ष में पूरा वेतन और दूसरे वर्ष में 80 प्रतिशत वेतन मिलेगा।बीते दिनों इस संबंध में सचिवालय संघ समेत कई संगठनों ने सीएम से मुलाकात कर संशोधन की मांग की थी, सीएम पुष्कर सिंह धामी ने सहमति देते हुए सरकारी कर्मचारियों को 300 उपार्जित अवकाश के अलावा अब साल में दो बार कुल 31 दिन का उपार्जित अवकाश देने पर भी मंजूरी और 85% सचिवालय विशेष भत्ता देने की बात कहीं थी।

इस तरह मिलेगा अवकाश का लाभ

  • राज्य सरकार की महिला सरकारी सेवकों  या एकल अभिभावक (महिला एवं पुरूष) सरकारी सेवकों को बाल्य देखभाल अवकाश अनुमन्य किये जाने सम्बन्धी कार्यालय ज्ञाप दिनांक 01 जून, 2023 में आंशिक संशोधन किये जाने के सम्बन्ध में। विशिष्ट परिस्थितियों यथा सन्तान की बीमारी अथवा परीक्षा आदि में सन्तान की 18 वर्ष की आयु तक देखभाल हेतु सम्पूर्ण सेवाकाल में अधिकतम दो वर्ष (730 दिन) का बाल्य देखभाल अवकाश इस शर्त / प्रतिबन्ध के साथ अनुमन्य किया गया है ।
  • बाल्य देखभाल अवकाश में रहते हुए कार्मिक को पहले 365 दिनों में उन्हें अनुमन्य अवकाश वेतन का 100 प्रतिशत तथा अगले 365 दिनों में उन्हें अनुमन्य अवकाश वेतन का 80 प्रतिशत वेतन दिया जायेगा।
  • जिन महिला सरकारी सेवकों द्वारा पूर्व से बाल्य देखभाल अवकाश लिया जा रहा है, के सम्बन्ध में यह प्रावधान अवकाश लेखे में बचे हुए अवकाशों पर ही नियमानुसार लागू होगा।
  • विभिन्न माध्यमों से उक्त शर्त / प्रतिबन्ध को विलोपित किये जाने हेतु राज्य सरकार को प्राप्त प्रत्यावेदनों का पुनः परीक्षण किये जाने के क्रम में उक्त उल्लिखित शर्त / प्रतिबन्ध को निम्नवत् संशोधित किये जाने का निर्णय राज्य सरकार द्वारा लिया गया है।
  • राज्य सरकार की महिला सरकारी सेवकों / एकल अभिभावक (महिला एवं पुरुष) सरकारी सेवकों को बाल्य देखभाल अवकाश की अवधि के दौरान अवकाश पर प्रस्थान करने से पूर्व प्राप्त हो रहे /आहरित वेतन के समतुल्य ‘अवकाश वेतन देय होगा।

वाहन भत्ते में संशोधन, वेतनमान का भी लाभ

  • विभिन्न विभागों में तैनात सहायक अभियंताओं और अलग-अलग संवर्गों के उन कर्मचारियों को वाहन भत्ते की सौगात दी है, जिन्हें सरकारी कार्यों के लिए अल्प दूरी की यात्राएं करनी होती हैं। इसके तहत विभिन्न विभागों में सहायक अभियंताओं को वाहन भत्ते में संशोधन किया है। अब 1200 से लेकर 4000 तक भत्ते का लाभ मिलेगा। पहले 200 से 2700 तक था।
  • सहायक अभियंताओं को प्रतिमाह 4000 रुपये वाहन भत्ता मिलेगा।यह 1 जनवरी 2024 से लागू होगा। जिन अधिकारी-कर्मचारियों, सरकारी सेवकों को पहले वाहन भत्ता 200 से 2700 रुपये तक मिल रहा था, अब 1200 से 4000 रुपये करने पर सहमति बन गई है।
  • व्यक्तिगत सहायक संवर्ग में पदोन्नति के लिए स्टाफिंग पैटर्न बदलने पर भी सहमति। अभी तक 4600 के बाद 5400 वेतनमान था, अब इसके बीच 4800 नया वेतनमान होगा, जिससे इस संवर्ग के कर्मचारियों को एक पदोन्नति का अवसर मिलेगा।

About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News