कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, मिलेगा वेरिएबल पे का लाभ, वेतन में होगी वृद्धि, दिसंबर में बढ़कर आएगी सैलरी!

hp news

Infosys Employees Variable Pay : भारत में आईटी कारोबार के क्षेत्र में दूसरी सबसे बड़ी कंपनी इंफोसिस के कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है। आईटी कंपनी ने वेतन में वृद्धि रोकने के बाद अपने कर्मचारियों के लिए बड़ा ऐलान किया है। कंपनी ने वेरिएबल पे का 80 प्रतिशत रकम देने की बात कही है।खास बात ये है कि इसको लेकर इंफोसिस ने अपने कर्मचारियों को मेल भी किया है।

वेरिएबल पे का 80% भुगतान

दरअसल, आईटी कंपनी इन्फोसिस ने इस साल अपने स्टाफ को वेरिएबल पे का 80% रकम देने की घोषणा की है। इसके तहत कंपनी अपने योग्य कर्मचारियों को तिमाही परफॉर्मेंस बोनस के रूप में औसतन 80% रकम देगी। परफ़ोर्मेंस बोनस की यह रकम पोजीशन लेवल 6 और उससे नीचे के लोगों को मिलेगी। जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए योग्य एंप्लॉई को औसतन 80% परफॉर्मेंस बोनस दिया जाएगा। हालांकि इसके लिए पिछली तिमाही के प्रदर्शन और योगदान को देखा जाएगा। यह वेरिएबल पे आउट यूनिट डिलीवरी मैनेजर के हाथ में होगा और इस हफ्ते सभी योग्य एंप्लॉई को इस बारे में खबर कर दी जाएगी। इस संबंध में कंपनी ने कर्मचारियों को एक मेल भी लिखा है और तिमाही परफॉर्मेंस बोनस की जानकारी दी है। हर स्टाफ के मामले में पिछली तिमाही में किए गए प्रदर्शन के आधार पर यह रकम अलग-अलग हो सकती है।

कंपनी हर वर्ष करती है वेतन वृद्धि का लाभ

गौरतलब है कि आईटी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी वित्तीय वर्ष 2022-23 में लागत को कम करने के लिए कर्मचारियों के वेतन में वृद्धि रोक दी गई थी। वही पिछली तिमाही में भी इंफोसिस ने प्रदर्शन और योगदान के आधार पर अपने स्टाफ को बोनस दिया था जबकि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में यह कम रहा था। बता दे कि इंफोसिस में आमतौर पर हर वर्ष कंपनी मूल्यांकन करने के बाद उनके वेतन में वृद्धि की घोषणा करती है। सालाना अप्रेजल साइकिल अक्टूबर से सितंबर तक चलता है। कंपनी आमतौर पर एम्पलाई की रेटिंग के बारे में जनवरी में जानकारी देती है और जून से उन्हें वेतन वृद्धि का लाभ देने लगती है।


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News