रिटायर्ड कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, ESIC ने इन नियमों में दी ढील, इस तरह मिलेगा लाभ, ये होंगे पात्र

ईएसआईसी ने बीमित सेवानिवृत्त श्रमिकों को चिकित्सा लाभ प्रदान करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी।यह सुविधा सेवानिवृत्ति/स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति से पहले कम से कम पांच साल बीमा योग्य रोजगार के दायरे में आने वाले कर्मचारियों को ही मिलेगी। 

employees news

ESIC new policy For Retired Employees : रिटायर कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। श्रम मंत्रालय ने कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) के नियमों में ढील दी है। इसके साथ ही सेवानिवृत्त बीमित व्यक्तियों को चिकित्सा लाभ देने का फैसला किया है। इससे अधिक वेतन के कारण ईएसआईसी के दायरे से बाहर होने वाले सेवानिवृत्त कर्मचारियों को भी इसका लाभ मिल सकेगा। इसकी जानकारी केंद्रीय मंत्री भूपेन्द्र यादव ने दी।

शनिवार को नई दिल्ली में कर्मचारी राज्य बीमा निगम की 193वीं बैठक में केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री और ईएसआईसी के अध्यक्ष भूपेन्द्र यादव ने बीमित श्रमिकों और उनके परिवार के सदस्यों को चिकित्सा देखभाल और नकद लाभ की उपलब्धता की दिशा में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। वही ईएसआईसी ने बीमित सेवानिवृत्त श्रमिकों को चिकित्सा लाभ प्रदान करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी।यह सुविधा सेवानिवृत्ति/स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति से पहले कम से कम पांच साल बीमा योग्य रोजगार के दायरे में आने वाले कर्मचारियों को ही मिलेगी।

ESIC से बाहर अधिक वेतन वाले कर्मचारियों को भी चिकित्सा लाभ

कर्मचारी राज्य बीमा निगम की 193वीं बैठक के दौरान, वेतन सीमा से अधिक होने के कारण ESIC योजना कवरेज से बाहर जाने वाले बीमित सेवानिवृत्त श्रमिकों को चिकित्सा लाभ प्रदान करने का प्रस्ताव किया गया। प्रस्ताव में कहा गया कि यदि कर्मचारी सेवानिवृत्ति से पहले कम से कम 5 वर्षों के लिए बीमा योग्य रोजगार के तहत था, स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति को मंजूरी दे दी गई है। वे व्यक्ति जो 1 अप्रैल  2012 के बाद कम से कम 5 वर्षों के लिए बीमा योग्य रोजगार में थे और 1 अप्रैल 2017 को या उसके बाद प्रतिमाह 30,000 रुपये के साथ सेवानिवृत्त या स्वैच्छिक सेवानिवृत्त हुए थे। वे नई योजना के अंतर्गत लाभांवित होंगे।

इन मुद्दों पर भी चर्चा

  • बैठक में बताया गया कि सरकार की एक्ट ईस्ट नीति के दृष्टिकोण को पूरा करने के लिए पूर्वोत्तर राज्यों में सेवा वितरण तंत्र को बढ़ाने के लिए, ESIC निगम ने सिक्किम सहित पूर्वोत्तर राज्यों में औषधालयों, चिकित्सा बुनियादी ढांचे/क्षेत्रीय/उप क्षेत्रीय कार्यालयों की स्थापना के लिए वर्तमान मानदंडों में ढील दी।
  • बैठक के दौरान ईएसआईसी संस्थानों में आयुष 2023 पर एक नई नीति को अपनाया गया। नीति में ईएसआईसी अस्पतालों में पंचकर्म, क्षार सूत्र और आयुष इकाइयों की स्थापना का विवरण दिया गया है।कर्मचारी राज्य बीमा निगम ने ईएसआईसी के संशोधित अनुमान 2023-24, बजट अनुमान 2024-25 और प्रदर्शन बजट 2024-25 को अपनाया।
  • बैठक के दौरान केंद्रीय मंत्री भूपेन्द्र यादव ने कहा कि संपूर्ण देश में चिकित्सा बुनियादी ढांचे के निर्माण और क्षमता में वृद्धि, नवीकरण और निर्माण तथा सुदृढ़ नीतियों को अपनाकर ईएसआईसी की सेवा प्रदाता तंत्र में समग्र सुधार किए गए हैं। उन्होंने कहा कि हमारे देश के श्रमिकों तक चिकित्सा सेवा और सामाजिक सुरक्षा लाभ पहुंचाने के लिए किए गए प्रयासों को बढ़ाया और सुदृढ़ बनाया जाना चाहिए।

About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News