कर्मचारियों के लिए महत्वपूर्ण खबर, पुरानी पेंशन योजना पर ताजा अपडेट, सीएम ने किया ये ट्वीट, अबतक 621 को लाभ

pensioners pension

OLD PENSION SCHEME 2023: आगामी चुनावों से पहले देशभर में पुरानी पेंशन योजना को लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष के बीच बयानबाजी का दौर तेजी से चल रहा है। अब हरियाणा के सीएम मनोहरलाल खट्टर के बयान पर राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने पलटवार किया है।गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि राजस्थान में पुरानी पेंशन योजना लागू कर दिया दी गई है और अबतक 621 कर्मचारियों को इसका लाभ दिया जा चुका है और आगे भी सभी कर्मचारियों को योजना का लाभ दिया जाएगा।

इतना ही नहीं सीएम अशोक गहलोत ने मीडिया में मनोहर लाल खट्टर का बयान सामने आने के बाद उनको एक लेटर लिख कर सार्वजनिक कर दिया है। साथ ही सोशल मीडिया अकाउंट पर भी पोस्ट की है। लेटर में सीएम गहलोत ने लिखा है- प्रिय मनोहरलाल खट्टर जी, मीडिया के माध्यम से पता चला कि आपने सरकारी कर्मचारियों के लिए ओल्ड पेंशन स्कीम पर बयान देते हुए कहा कि राजस्थान ने ओल्ड पेंशन स्कीम की घोषणा को वापस ले लिया है। मैं आपको बताना चाहता हूं कि आपको किसी ने गलत जानकारी दी है। जिसके कारण आपने ऐसा बयान दिया, जो तथ्यात्मक नहीं है।

अबतक 621 को ओपीएस का लाभ

गहलोत ने आगे लिखा-राजस्थान में 1 अप्रैल 2022 से ओपीएस लागू कर दिया गया है और 2004 के बाद सेवा में आकर रिटायर हुए 621 कर्मचारियों को OPS का लाभ दिया जा चुका है और भविष्य में भी सभी कर्मियों को ओपीएस का लाभ दिया जाएगा। मैं आपकी जानकारी में लाना चाहूंगा कि संविधान की सातवीं अनुसूची में राज्य सूची का बिन्दु संख्या 42 स्पष्ट कहता है कि स्टेट पेंशन जो राज्य की समेकित निधि (कंसोलिडेटेड फंड) से दी जाएंगी, उन पर राज्य सरकार का कानून बनाने का अधिकार है। ऐसे में आपका यह कहना उचित नहीं है कि OPS केंद्र सरकार द्वारा ही दी जा सकती है। मैं आपसे निवेदन करना चाहूंगा कि मानवीय दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए हरियाणा में भी ओल्ड पेंशन स्कीम लागू करें और केन्द्र सरकार को भी इसके लिए अपनी सिफारिश भेजें।

ये था हरियाणा सीएम का बयान

गुरूवार को मीडिया से चर्चा करते हुए सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा था कि मुझे एक वॉट्सएप ग्रुप में केंद्र सरकार के एक अधिकारी का मैसेज पढ़ने को मिला, जिसमें अधिकारी ने लिखा था कि पुरानी पेंशन योजना अगर लागू होती है तो साल 2030 तक देश दिवालिया हो जाएगा। संसद के बिना अब ओल्ड पेंशन स्कीम को अब कोई लागू नहीं कर सकता है, यहां तक कि इस योजना पर राजस्थान सरकार भी पीछे हट गई है। अर्थशास्त्रियों का हवाला देते हुए कहा कि जो भी प्रदेश पुरानी पेंशन योजना लागू करेगा वह बर्बाद हो जाएगा। इसीलिए अब राजस्थान भी इसे लागू करने से पीछे हट रहा है यानी ओल्ड पेंशन स्कीम अब सिर्फ राजनीतिक घोषणा ही बची है।

 


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News