Paid Menstrual Leave: स्मृति ईरानी के बयान पर छिड़ी बहस, जानिए क्यों कहा- पीरियड लीव की कोई जरूरत नहीं…

भावना चौबे
Published on -

Paid Menstrual Leave: केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी हमेशा की तरह इस बार भी अपने बयान को लेकर चर्चाओं में बनी हुई है। फिलहाल उन्होंने पीरियड लीव को लेकर जो बयान दिया है वह सुर्खियों में बना हुआ है। यह बयान कुछ ऐसा है कि लोगों ने इस बात पर बहस करना शुरू कर दिया। दरअसल, बुधवार को राज्यसभा में राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख मनोज कुमार झा द्वारा जब मासिक धर्म के स्वच्छता नीति पर सवाल पूछा गया तो स्मृति ईरानी ने जबाव देते हुए मासिक धर्म अवकाश के विरोध में अपना पक्ष रखा और कहा, कि मासिक धर्म कोई ‘बाधा’ नहीं है और ‘पेड लीव’ के लिए किसी विशिष्ट नीति की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए।

Paid Menstrual Leave: स्मृति ईरानी के बयान पर छिड़ी बहस, जानिए क्यों कहा- पीरियड लीव की कोई जरूरत नहीं...

देश में अक्सर इस बात पर बहस छिड़ती रहती है और यह सवाल बार बार उठाया कि क्या कामकाजी महिलाओं को मासिक धर्म के दिनों में पेड लीव लेनी चाहिए? जब इस सवाल का जवाब केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मिता ईरानी ने दिया तो सब जगह यह चर्चा का विषय बन गया है। स्मृति ईरानी ने मासिक धर्म के ऊपर अपना जवाब देते हुए कहा, कि यह “महिलाओं के जीवन का एक महत्वपूर्ण और स्वाभाविक हिस्सा है। इसे हमेशा सकारात्मक समझ कर स्वीकार करना चाहिए। यह एक स्वाभाविक गतिविधि है जिसके लिए किसी भी प्रकार की कोई छुट्टी लेने की आवश्यकता किसी भी महिलाओं को नहीं होती है। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा कि महिलाओं को हर परिस्थिति में खुद को ढालना और सामना करना आना चाहिए।”


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News