राजस्थान में फिर सियासी हलचल, सचिन पायलट ने गहलोत सरकार पर लगाए गंभीर आरोप, जांच की मांग, 1 दिन के अनशन का ऐलान

Rajasthan Politics : आगामी चुनाव से पहले एक बार फिर राजस्थान की राजनीति में हलचल तेज हो गई है। एक तरफ राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के सुप्रीमो और नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल  के सचिन पायलट को कांग्रेस छोड़ने के ऑफर देने के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। वही दूसरी तरफ कांग्रेस विधायक सचिन पायलट  ने राज्य की अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।इतना नहीं पायलट ने 11 अप्रैल को गहलोत सरकार के खिलाफ 1 दिन का अनशन करने का ऐलान भी किया है।सूत्रों की मानें तो इस सियासी तूफान को रोकने के लिए कांग्रेस पायलट को राजस्थान कांग्रेस का अध्यक्ष बना सकती है, इसको लेकर मंथन जारी है।

चुनाव से पहले कांग्रेस में फूट,  पायलट के गहलोत सरकार पर बड़े आरोप

आज रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पायलट ने गहलोत सरकार पर 45000 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप लगाया है और इस दौरान उन्होंने अशोक गहलोत के विपक्ष में रहते हुए वसुंधरा राजे सरकार पर निशाने साधते हुए कई पुरानी वीडियो भी शेयर किए। सचिन पायलट ने कहा कि साढ़े चार साल बाद भी मामले को CBI को नहीं दिया गया, कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस की जो नो टॉलरेंस पॉलिसी है, उसे कार्रवाई करके जताएं। विपक्ष में रहते हुए हमने जनता को आश्वस्त किया था कि हम निष्पक्ष जांच कराएंगे। सत्ता में आने के बाद मैं कांग्रेस नेतृत्व को सुझाव दे चुका हूं, उनमें से एक सुझाव यह भी था कि हमारी तरफ से लगाए आरोपों की जांच हो।

11 अप्रैल को 1 दिन का अनशन

पायलट ने अशोक गहलोत पर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के साथ साठगांठ का आरोप लगााया और कहा कि विपक्ष में रहने के दौरान जितने भी घोटाले हुए अशोक गहलोत ने सब दबा दिए। कांग्रेस पार्टी ने वादा किया था कि सत्ता में आएगी तो भ्रष्टाचार के मामलों की जांच करेंगे।जब हमारी सरकार बनी थी, तब भ्रष्टाचार को लेकर हमने मिलकर कई बातें कहीं थीं, लेकिन अब तक यह काम नहीं हुए है। मैं 11 अप्रैल को शहीद स्मारक पर एक दिन का अनशन करूंगा। यह अनशन उन बातों को रखने और उन्हें करने को लेकर किया जाएगा, जो अब तक हमारी सरकार द्वारा नहीं हुईं।

कांग्रेस छोड़ नई पार्टी बनाए सचिन, हम साथ देंगे- बेनीवाल

बता दे कि सांसद हनुमान बेनीवाल ने सचिन पायलट को कांग्रेस छोड़ने की सलाह दी है। उनका कहना है कि सचिन पायलट को कांग्रेस छोड़कर नई पार्टी बनानी चाहिए। मैं सचिन पायलट को कहता हूं कि आप कांग्रेस छोड़कर अपनी अलग पार्टी बनाएं तो हम उनके साथ फिर गठबंधन कर सकते हैं। सचिन पायलट जिस तरह कांग्रेस में बार-बार अपमानित हो रहे हैं उन्हें अब कांग्रेस छोड़ देनी चाहिए। पायलट के पार्टी बनाने से कांग्रेस-बीजेपी की फूट का फायदा तीसरे मोर्चे को मिलेगा। कांग्रेस बीजेपी दोनों ही पार्टियां बहुत पीछे चली जाएंगी।सचिन के पिता राजेश पायलट बहुत बड़े नेता थे।उन्होंने मंत्री पद से लेकर बड़े पदों तक काम किया।पायलट खुद भी मंत्री, उपमुख्यमंत्री व प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं।

 


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News