Prestigious “Order of the Nile”: भारत का एक बार फिर बढ़ा विश्व में मान, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिला इजिप्ट का सर्वोच्च राजकीय सम्मान

Order of the Nile

Prestigious “Order of the Nile” : मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सिसी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘ऑर्डर ऑफ द नाइल‘ से सम्मानित किया गया है। मिस्र ने साल 1915 में इस सम्मान की स्थापना की थी। जिसे सुल्तान हुसैन कामेल द्वारा स्थापित किया गया था और साल 1953 में इसे फिर से पुनर्गठित किया गया था, जब मिस्र गणतंत्र के रूप में राजशाही समाप्त हुई। बता दें कि यह एक महत्वपूर्ण और प्रतिष्ठित सम्मान है जो मिस्र के प्रमुखों और विदेशी नेताओं को समर्पित किया जाता है।

 

भारतीय सैनिकों को दी श्रद्धांजलि

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सीसी के बीच समझौता ज्ञापन हस्ताक्षर किए गए हैं। यह समझौता ज्ञापन दोनों देशों के बीच सहयोग, साझा, समर्थन और संबंधों को मजबूत करने में महत्तवपूर्ण योगदान देगा। वहीं, पीएम मोदी ने मिस्र के काहिरा में हेलियोपोलिस युद्ध कब्रिस्तान का दौरा किया, जहां प्रथम विश्व युद्ध के दौरान सर्वोच्च बलिदान देने वाले भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि भी दी। यह कब्रिस्तान उन सैनिकों को समर्पित है, जिन्होंने प्रथम विश्व युद्ध में जीवन गवाया था। इसके अलावा, प्रधानमंत्री मोदी ने अल-हकीम मस्जिद का भी दौरा किया जो काहिरा में स्थित है।

दो दिवसीय मिस्र दौरे पर पीएम मोदी

दरअसल, पीएम मोदी दो दिवसीय यात्रा पर मिस्र पहुंचे हैं। इस दौरान मिस्र के प्रधानमंत्री मुस्तफा मदबाउली ने उनका काहिरा एयरपोर्ट पर स्वागत किया। यह मिस्र में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली राजकीय यात्रा है जो 1997 के बाद हुई है। इस यात्रा से दोनों देशों के बीच संबंधों को नए सिरे से मजबूती देगा। यह यात्रा भारत सरकार की पश्चिमी एशिया और अफ्रीका में अपने रिश्तों को मजबूत करने की प्रयासों का प्रमुख अंग है। इससे पहले जनवरी 2023 में जब अब्देल फतह अल-सिसी भारत आए थे तो दोनों देशों ने एक-दूसरे को रणनीतिक साझेदार घोषित किया था।

किस देश ने दिया कौन-सा राजकीय सम्मान

प्रधानमंत्री मोदी के 9 साल के कार्यकाल में यह 13वां सर्वोच्च राजकीय सम्मान है जिससे उन्हें किसी सरकार द्वारा नवाज़ा गया है। जो 12 अन्य सर्वोच्च राजकीय सम्मान पीएम मोदी को मिले वह हैं ‘Companion of the Order of Logohu’ जो उन्हें जो उन्हें पापुआ न्यू गिनीआ सरकार द्वारा दिया गया, ‘Order of Abdulaziz Al Saud’ जो उन्हें सऊदी अरेबिया के राजा द्वारा दिया गया, ‘Grand Collar of the State of Palestine Award’ जो उन्हें फिलिस्तीन की सरकार द्वारा दिया गया, ‘State Order of Ghazi Amir Amanullah Khan’ जो उन्हें अफगानिस्तान की सरकार द्वारा दिया गया, ‘Order of St. Andrew Award’ जो उन्हें रशिया की सरकार द्वारा दिया गया, ‘Order of Zayed Award’ जो उन्हें यूएई कि सरकार द्वारा दिया गया, ‘Order of the Distinguished Rule of Nishan Izzuddin’ जो उन्हें मालदीव की सरकार द्वारा दिया गया, ‘King Hamad Order of the Renaissance’ जिससे उन्हें बहरीन के राजा द्वारा नवाजा गया, ‘Legion of Merit’ जो उन्हें यूएस की सरकार द्वारा दिया गया, ‘Ngadag Pel gi Khorlo or the Order of the Druk Gyalpo’ जिसे उन्हें भूटान के राजा द्वारा नवाजा गया, ‘Companion of the Order of Fiji’ जो उन्हें फिजी की सरकार द्वारा दिया गया, ‘Abakal Award by the Republic of Palau’ जो उन्हें पलाऊ गणराज्य की सरकार द्वारा दिया गया।


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News