सवाल यह नहीं कि सदन कितनी कार्यक्षमता से चला, सवाल यह है कि देश की आवाज को सदन में कितना सुने जाने की अनुमति दी गई, बोले राहुल गांधी

देश की जनता चाहती है कि विपक्ष संविधान की रक्षा करे सुरक्षा करे। और यदि आप विपक्ष को अपनी और देश में लोगों की बात रखने का मौका देंगे तो निश्चित तौर पर आप संविधान की रक्षा करने का जो दायित्व आपको सौंपा गया है उसका भी निर्वहन करेंगे।

Amit Sengar
Published on -
rahul gandhi

Rahul Gandhi Congratulate Om Birla For Speaker Post : विपक्ष के नेता राहुल गांधी ने ओम बिरला को स्पीकर पद पर चुने जाने को लेकर बधाई दी। अपने इस बधाई संदेश में उन्होंने विपक्ष की ओर से न्याय संगत मामलों में समर्थन की भी बात स्पीकर से कही।

विपक्ष भी है देश की आवाज

राहुल ने कहा कि विपक्ष देश की आवाज को सदन में उठता है, और आप उसे आवाज के आर्बिट्रर हैं, सरकार के पास राजनीतिक शक्ति हो सकती है लेकिन विपक्ष भी देश की आवाज है। और इस बार पिछली बार की तुलना में विपक्ष देश की ज्यादा जनता का सदन में प्रतिनिधित्व कर रहा है। विपक्ष आपके काम में आपकी मदद करने के लिए तैयार है हम चाहते हैं कि सदन में काम हो और लगातार हो, लेकिन यह केवल एक दूसरे के ऊपर भरोसे पर संभव है। मुझे उम्मीद है कि आप सदन में हमें बोलने की अनुमति देंगे देश की आवाज को रखने की अनुमति देंगे।

विपक्ष की आवाज को दबाकर सदन चलाने का तरीका गैर लोकतांत्रिक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पिछली लोकसभा की 97% कार्यक्षमता के बयान पर राहुल ने कहा “सवाल यह नहीं कि सदन कितनी कार्यक्षमता से चला, सवाल यह है कि देश की आवाज को सदन में कितना सुने जाने की अनुमति दी गई”! राहुल ने कहा कि विपक्ष की आवाज को दबाकर सदन चलाने का तरीका गैर लोकतांत्रिक तरीका है। इस चुनाव ने यह बताया है कि देश की जनता चाहती है कि विपक्ष संविधान की रक्षा करे सुरक्षा करे। और यदि आप विपक्ष को अपनी और देश में लोगों की बात रखने का मौका देंगे तो निश्चित तौर पर आप संविधान की रक्षा करने का जो दायित्व आपको सौंपा गया है उसका भी निर्वहन करेंगे।

आपको बता दें आज सुबह 11 बजे लोकसभा के स्पीकर के तौर पर एनडीए की ओर से ओम बिरला और इंडिया एलायंस की ओर से के सुरेश के लिए वोटिंग की गई। ऐसा भारत के इतिहास में 1946 के बाद दूसरी बार हुआ है जब स्पीकर पद के लिए सदन में वोटिंग की गई हो। वोटिंग के बाद ध्वनिमति से ओम बिरला के नाम की स्पीकर पद के लिए घोषणा की गई और प्रोटेम स्पीकर भ्रतरी मेहताब द्वारा ओम बिरला को स्पीकर की कुर्सी सौंपी गई।


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News