Rozgar Mela: देशभर के 45 केंद्रों पर रोजगार मेला कल, पीएम मोदी 71,000 युवाओं को बाटेंगे नियुक्ति पत्र, पढ़ें पूरी खबर

Manisha Kumari Pandey
Published on -

Rozgar Mela: 16 मई यानि कल देशभर के 45 केंद्रों पर रोजगार मेला (Job Fair) का आयोजन होने वाला है। इस दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकारी विभागों में नव-नियुक्त हुए 71,000 युवाओं को नियुक्ति पत्र (Appointment Letter) बाटेंगे। साथ ही वह इस दौरान नव-नियुक्ति युवाओं को संबोधित भी करेंगे। कार्यक्रम का आरंभ सुबह 10:30 बजे होगा। इस बात की जानकारी पीएमओ ने दी है।

चयनित नए कर्मी भारत सरकार के तहत विभिन्न पदों पर सेवाएं प्रदान करेंगे। भर्तियाँ विभिन्न विभागों, मंत्रालयों, राज्य सरकार और केंद्र शासित प्रदेशों में होगी। सिलेक्टेड युवाओं को ग्रामीण डाक सेवा, कनिष्ठ लिपिक व टंकक, डाक निरीक्षक वाणिज्यिक व टिकट लिपिक, जूनियर अकाउंटस् क्लर्क, ट्रैक मेन्टेनर, असिस्टेंट इनफोर्समेंट ऑफिसर, इंस्पेक्टर, असिस्टेंट सिक्योरिटी ऑफिसर, नर्सींग ऑफीस्ट, लोवर कलेक, सब-डिवीजनल ऑफिसर, फ़ायरमैन, असिस्टेंट ऑडिट ऑफिसर, डिवीजनल अकाउंटेंट, कॉन्स्टेबल, हेड कॉन्स्टेबल, असिस्टेंट कमांडेन्ट, प्रिंसिपल, ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर, असिस्टेंट रजिस्ट्रार, असिस्टेंट प्रोफेसर समेत अन्य कई पदों पर नियुक्त किया जाएगा।

नव-नियुक्त युवाओं को कर्मयोगी प्रारंभ के तहत ट्रेनिंग भी प्रदान की जाएगी। रोजगार मेला का मुख्य उद्देश्य देशभर में रोजगार के अवसर बढ़ाना है। कार्यक्रम के जरिए युवाओं को रोजगार का अवसर प्रदान किया जाता है, ताकि वे लोग देश के विकास में योगदान दे पाएं। इसकी शुरुआत पिछले साल 22 अक्टूबर को पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा की गई थी।


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News