Cyclone Tej Alert : चक्रवात ‘तेज’ से बदलेगा मौसम, 22 अक्टूबर तक 3 राज्यों में मध्यम बारिश, आंधी-तूफान की चेतावनी, पर्वतों पर भारी बर्फबारी, जानें Weather Update

IMD Weather Update, Cyclone

IMD Weather Today, Aaj ka Mausam, Cyclone Tej : कई राज्य में आंधी बारिश को जोर देखा जा रहा है। पश्चिमी विक्षोभ सहित निम्न दबाव का क्षेत्र सक्रिय होने की वजह से कई क्षेत्रों में भारी बारिश देखी जा रही है। कुछ राज्यों में तापमान में गिरावट भी बनी हुई दिल्ली एनसीआर में बारिश और तेज हवा के बाद तापमान में बड़ी गिरावट रिकॉर्ड की गई है। जल्द चक्रवात तेज का असर देखा जा सकता है।

मौसम वैज्ञानिक अरब सागर पर कड़ी निगरानी रख रहे हैं। दरअसल 22 से 23 अक्टूबर के बीच मानसून के बाद चक्रवात के संभावित गठन का अनुमान लगाया गया है। दरअसल एक चक्रवात सक्रिय हो रहा है। चक्रवात को ‘तेज’ नाम दिया गया है। चक्रवात के साथ-साथ मुंबई में रात के तापमान में ठंडक का अनुभव हो रहा है। तापमान गिरकर 22 से 23 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है।

चक्रवात ‘तेज’ का असर!

मौसम वैज्ञानिक अरब सागर में विकसित होने वाले संभावित चक्रवाती तूफान के संकेत का पता लगा रहे हैं। इसकी तीव्रता के बारे में अभी फिलहाल स्थिति स्पष्ट नहीं है। दक्षिण पूर्व अरब सागर और निकटवर्ती तट में एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन पैटर्न के जल्द निम्न दबाव के क्षेत्र बनने की उम्मीद है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की स्थिति की जानकारी के मुताबिक लक्षद्वीप क्षेत्र दक्षिण पूर्व अरब सागर और केरल तट पर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन देखा गया है। माना जा रहा है कि यह औसत समुद्र तल से 3.1 किलोमीटर ऊपर तक फैला हुआ है। आईएमडी ने अपडेट देते हुए कहा है कि इसके प्रभाव के तहत अगले 48 घंटे में दक्षिण पूर्व और आसपास के पूर्व मध्य अरब सागर पर एक कम दबाव का क्षेत्र विकसित होने की संभावना है।

जिसके बाद इसके पश्चिम उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना जताई जा रही है।  ऐसे में 21 अक्टूबर के आसपास मध्य अरब सागर के ऊपर एक दबाव का क्षेत्र विकसित हो सकता है। चक्रवात की वजह से मुंबई सहित गोवा पुणे और आसपास के इलाके पर इसका असर देखा जा सकता है। फिलहाल वैज्ञानिक इस पर नजर बनाए हुए हैं।

50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। हालांकि इसका असर अरेबियन सहित लक्षद्वीप, कोमोरिन क्षेत्र में देखा जा सकता है। आसमान में बादल छाएंगे। 22 अक्टूबर से मौसम बदलने के आसार जताए गए हैं।

कुछ हिस्से में हल्की बारिश

आज केरल कर्नाटक सहित तेलंगाना उड़ीसा के कुछ हिस्से में हल्की बारिश देखी जा सकती है। सर्दी की दस्तक के साथ ही लखनऊ में कोहरा देखा जाएगा। दिल्ली में आसमान साफ रहेगा। हालांकि सुबह और शाम हल्की ठंड का अनुभव हो सकता है। मौसम विभाग के माने तो 18 से 20 अक्टूबर तक भारत के ज्यादातर इलाके में मौसम शुष्क बना रहेगा। राजधानी दिल्ली सहित पंजाब हरियाणा के कुछ क्षेत्र में तापमान में हल्के गिरावट देखी जा सकती है। हालांकि तेज हवा चलने से मौसम सुहावना रहेगा। इस बार समय से पहले प्रदेश में सर्दी के दस्तक देखने को मिल रही है। मानसून की वापसी की बात करें तो पूर्वी भारत से पूरी तरह से मानसून की विदाई हो चुकी है।

इधर राजधानी दिल्ली में न्यूनतम तापमान में गिरावट का सुशीला जारी है।  तापमान घटकर 31 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 19 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। उत्तर प्रदेश में बारिश के बाद बड़ी ठंड में एक बार फिर से कमी देखी जा सकती है। दरअसल उत्तर प्रदेश में फिर से उमेश भरी गर्मी का एहसास हो सकता है। सुबह के वक्त कोहरा रहने के असर है लेकिन दिन में मौसम साफ रहेगा तेज कड़ी धूप खिली रहेगी।

कोहरे में वृद्धि 

बिहार झारखंड असम मेघालय मणिपुर नगालैंड मिजोरम में सुबह और शाम को कोहरे में वृद्धि होगी। इसके बाद विजिबिलिटी में कमी आ सकती है। हालांकि इन क्षेत्रों में दिन में मौसम साफ रहने वाला है 20 से 30 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चलेगी। पश्चिमी हिमालय पर मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इसके लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया जबकि पहाड़ियों के ऊपर मध्य बर्फबारी देखने को मिल सकती है। लक्षद्वीप अंडमान निकोबार दीप समूह सहित कर्नाटक तमिलनाडु केरल के कुछ हिस्से में मध्यम बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इन क्षेत्रों में तूफान की भी आशंका जताई गई है।

कुछ इलाके में छिटपुट बारिश

सिक्किम पूर्वोत्तर भारत सहित तटीय आंध्र प्रदेश छत्तीसगढ़ झारखंड के कुछ इलाके में छिटपुट बारिश से देखने को मिल सकती है। पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी से दिल्ली उत्तर प्रदेश में सुबह और शाम ठंड में वृद्धि देखी जाएगी जबकि हरियाणा पंजाब में भी पश्चिमी विक्षोभ का असर दो दिनों तक देखा जा सकता है। कुछ इलाके में हल्की बारिश की संभावना व्यक्त की गई है। दुर्गा पूजा के समाप्त होने तक कई राज्यों में ठंड की दस्तक बढ़ सकती है।

इधर कुछ राज्यों में अष्टमी और नवमी को भी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। दक्षिणी राज्यों की बात करें तो केरल कर्नाटक तमिलनाडु आंध्र प्रदेश उड़ीसा सहित रेल सीमा के क्षेत्र में दुर्गा पूजा के अष्टमी से लेकर दसवीं तक बारिश की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग ने अपने अलर्ट में हिमाचल उत्तराखंड में मौसम बदलने की भविष्यवाणी की है शिमला में अक्टूबर में पहली बार इतनी बर्फबारी देखी गई है। हिमाचल में 1 महीने पहले सर्दी की दस्तक के साथ ही तापमान में भी भारी गिरावट देखी जा रही है।

जल्द ही एक चक्रवात सक्रिय हो सकता है

गुजरात राजस्थान मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ सहित गोवा और महाराष्ट्र में भी मौसम शुष्क बना रहेगा। तापमान में उतार-चढ़ाव देखा जा सकता है। न्यूनतम तापमान में कमी आएगी हालांकि मौसम साफ रहेगा तेज धूप के लिए रहने के कारण हल्की गर्मी का एहसास हो सकता है। 25 अक्टूबर के बाद इन क्षेत्रों मेंतापमान में गिरावट होने के साथ ही तेज हवा से मौसम में परिवर्तन देखा जाएगा। अरब सागर में बना रहे निम्न दबाव के क्षेत्र के जल्द ही डिप्रेशन में बदलने की भी संभावना व्यक्त की गई है। माना जा रहा है कि ऐसे में जल्द ही एक चक्रवात सक्रिय हो सकता है।


About Author
Kashish Trivedi

Kashish Trivedi

Other Latest News