WhatsApp पर मिलेंगे 2 नए फीचर्स, तय कर पाएंगे ग्रुप कॉल का समय, अब नहीं पड़ेगी पैरेलेल ऐप्स की जरूरत, जानें कैसे

WhatsApp New Features: व्हाट्सऐप, मेटा के स्वामित्व के अंतर्गत आने वाले वाला प्रसिद्ध सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर है। इसका इस्तेमाल दुनिया की बड़ी आबादी वर्तमान में कर रही है। नए-नए अपडेट्स और फीचर्स के जरिए कंपनी अक्सर यूजर्स के अनुभव को बेहतर बनाने का प्रयास करते रहती है। हाल ही में कई नए फीचर्स ऐप पर जोड़े गए हैं। वहीं अनेकों की टेस्टिंग जारी है। इस लिस्ट में शामिल हो चुके हैं। जिनके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं।

शेड्यूल ग्रुप कॉल फीचर

इस लिस्ट में पहले फीचर का नाम “Schedule Group Call” है। नाम से इसके बारे में थोड़ा-बहुत अंदाजा लगाया जा सकता है। WeBetaInfo के मुताबिक व्हाट्सऐप इस फीचर पर काम कर रहा है। इस सुविधा के जरिए यूजर्स ग्रुप कॉल के समय को तय कर पाएंगे। ऐसी ही सुविधा Zoom App और Google Meet पर उपलब्ध है। इसके अलावा यूजर्स कॉल के विष और टाइप का चयन वीडिओ और ऑडियो कॉल के लिए तय कर पाएंगे। इतना ही नहीं कॉल के 15 मिनट पहले सभी मेंबर्स को नोटिफिकेशन भी भेजा जाएगा। कुछ एंड्रॉयड बीटा यूजर्स के लिए इसे शुरू किया गया है।

मल्टी अकाउंट फीचर

व्हाट्सऐप मल्टी-अकाउंट फीचर की टेस्टिंग कर रहा है। कुछ बीटा टेस्टर्स के लिए इसे शुरू भी कर दिया गया है। इस सुविधा के कारण पैरेलेल ऐप्स की जरूरत कम हो जाएगी। Multi Account Feature के तहत यूजर्स एक अकाउंट को अनेक डिवाइस से लिंक कर पाएंगे। उम्मीद है कि जल्द ही यह सभी यूजर्स के लिए उपलब्ध होगा।

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News