कश्मीरी युवक ग्वालियर आया, धमकी वाला पोस्ट डालकर हुआ गायब

ग्वालियर। कश्मीर का रहने वाला जेहादी मानसिकता वाला एक युवक ग्वालियर में आकर रुका , उसने भड़कीले बयानों वाला वीडियो बनाया और फेसबुक पर पोस्ट कर यहाँ से गायब हो गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है

जम्मू कश्मीर में रहने वाला मोहम्मद वकार बीती 5 जुलाई को ग्वालियर आया और रेलवे स्टेशन के पास गाँधी नगर के गिरनार गेस्ट हाउस में रुक गया। वकार ने रेलवे स्टेशन क्षेत्र में एक वीडियो बनाया। वीडियो में उसने कहा कि "मुझे धमकी देने वालों मैं तुम्हारे शहर ग्वालियर में हूँ, जिसमे दम है वो मुझसे मिलने गेस्ट हाउस आ जाये। " वकार वीडियो में खुली चुनौती देता दिख रहा है। लेकिन वीडियो बनाते समय वो यहाँ वहां भी देख रहा है। जिससे पता चलता है कि वो नहीं चाहता कि वीडियो बनाते समय उसे कोई देखे। वीडियो के अंत में वकार कह रहा है कि" हम भारत देश में सिर्फ गुलाम ए मुस्तफा , इस्लामिक कानून चलेगा। वकार ने वीडियो बनाकर फेसबुक पर अपलोड कर दिया। 

वीडियो फेसबुक पर अपलोड होते ही लोग शेयर करने लगे। ये सामाजिक कार्यकर्ता नितिन शुक्ला तक भी पहुंची तो उन्होंने गेस्ट हॉउस जाकर पड़ताल की तो पता चला कि मोहम्मद वकार 5 जुलाई को पत्नी के साथ आया था और 8 जुलाई को चला गया। गेस्ट हॉउस में वकार ने राजौरी नगर निगम जम्मू का पहचान पत्र दिया है जिससे पता चलता है कि वो नगर निगम कर्मचारी है। हालाँकि पहचान पत्र के असली होने पर भी संदेह है। 

भड़काऊ बयान वाले वीडियो की पुलिस तक पहुँच गई है और एसपी नवनीत भसीन ने सायबर सेल को मामले की जांच सौंप दी है। 

अब सवाल ये उठता है कि जेहादी मानसिकता वाले मोहम्मद वकार का ग्वालियर में कौन दुश्मन है? वो उससे सामना करने ग्वालियर क्यों आया ? उसने खुले आम व्यस्त रेलवे स्टेशन क्षेत्र में वीडियो कैसे तैयार कर ली? शांतिप्रिय ग्वालियर में वो किस मकसद से आया था और तीन दिन रहकर उसने यहाँ क्या किया? 

बहरहाल जब नितिन शुक्ला ने गिरनार गेस्ट हॉउस के रजिस्टर में दर्ज वकार के मोबाइल पर फोन किया तो पहले उसने खुद को झाँसी में होना बताया फिर ओरछा बताने लगा। उसके बाद 9 जुलाई की रात करीब9:45 बजे नितिन शुक्ला की वीडियो को शेयर करते हुए वकार ने एक पोस्ट डाली जिसमें लिखा कि वो जम्मू जा रहा है और फिर गायब हो गया।