Honey Trap Pendrive : भोपाल से बाहर हैं कमलनाथ, SIT से नहीं मिल पाएंगे आज

कमल नाथ ने यह बयान कांग्रेस विधायक व पूर्व मंत्री उमंग सिंघार के मामले में दिया था। सिंघार के खिलाफ भोपाल के शाहपुरा थाने में आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मुकदमा दर्ज किया गया था। इसको लेकर पार्टी के विधायकों ने आपत्ति जताई थी

विधानसभा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनी ट्रैप (Honey Trap) मामले में आज SIT को पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ (Kamal Nath) से मिलना था, लेकिन कंल नाथ के भोपाल (Bhopal) में नहीं होने के कारण SIT कमल नाथ से नहीं मिल पाएगी। यह सूचना कमल नाथ के तरफ से SIT को पहले ही भेज दी गई है। उधर कमल नाथ की ओर से जवाब देने के लिए वकीलों की टीम भी तैयार है।

Read More: मप्र में सियासी पारा तेज, बड़े नेताओं की बैठक में BJP की खास तैयारी

दरअसल, हनी ट्रैप मामले में उस समय नया मोड़ आया जब कमल नाथ ने अपने आप मामले की पेनड्राईव (Pen Drive) होने का दावा किया था। जिसके बाद मामले की जांच कर रही SIT की टीम ने उन्होंने नोटिस भेजा था और 2 जून की सुबह 12:30 बजे तक पेनड्राईव देने को कहा था। यदि पेनड्राईव समय पर नहीं मिलती है तो SIT स्वयं कमल नाथ के पास लेने पहुंचेगी। जिसके बाद तारीख आने से पहले नाथ ने यह जानकारी भेज दी है कि वे भोपाल में नहीं हैं।

Read More: Indore: जनता कर्फ्यू के उल्लंघन में बंद परिजनों को छुड़वाने जेल के बाहर मचा हंगामा

बता दें, कमल नाथ ने यह बयान कांग्रेस विधायक व पूर्व मंत्री उमंग सिंघार के मामले में दिया था। सिंघार के खिलाफ भोपाल के शाहपुरा थाने में आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मुकदमा दर्ज किया गया था। इसको लेकर पार्टी के विधायकों ने आपत्ति जताई थी और कहा था कि सरकार जबरन दबाव बना रही है। उसके बाद नाथ का यह बयान आया था। नाथ ने बाद में सफाई दी थी कि ऐसा लोग कहते हैं कि उनके पास हनीट्रैप की पेन ड्राइव है।

गौरतलब है की कमल नाथ द्वारा हनी ट्रैप पेनड्राईव को लेकर दिए गए बयान का जवाब देने वकीलों की टीम भी तैयार हो गई है। पार्टी के राज्यसभा सांसद और सुप्रीम कोर्ट के वकील विवेक तन्खा की देखरेख में वकीलों की यह टीम काम कर रही है।