MP Politics: नरोत्तम की कांग्रेसियों को नसीहत, साइकिल चलाने के पहले रखे यह ख्याल

नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि नेताओं से अपील है कि स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए आंदोलन का ऐलान किया जाए।

नरोत्तम मिश्रा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। देश में एक बार फिर से कोरोना (corona) की रफ्तार तीव्र हो रही है। जिसको देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार (mp government) द्वारा कड़े कदम उठाए जा रहे हैं। इसी बीच कोरोना की सजगता को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj ingh chauhan) ने बैठक की थी। जहां प्रदेश के कुल जिले में अत्यधिक सावधानी बरतने और मास्क (mask) को अनिवार्य करने के निर्देश दिए गए है। इस मामले में अब नरोत्तम मिश्रा (narottam mishra) का बड़ा बयान सामने आया हैं।

प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि भारत को देखते हुए सरकार हर तरह के कदम उठा रही है। प्रदेश के हर कलेक्टरों को आदेश दिया गया है। महाराष्ट्र की सीमा से सटे जिलों में नियम का पूर्ण रुप से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि भोपाल और इंदौर में प्रशासन को विशेष सतर्कता बरतने की चेतावनी दी गई है।

Read More: कांग्रेस MLA डागा के ठिकानों पर IT रेड, 450 करोड़ रुपए की अघोषित संपत्ति का पर्दाफाश

प्रदेश में पेट्रोल डीजल (petrol diesal) के बढ़े दामों के बाद कांग्रेस (congress) ने विधानसभा साइकिल पर जाने का निर्णय लिया था। हालाकि साइकिल से 1 किलोमीटर का सफर तय करने के बाद ही कांग्रेस विधायक थक गए और कार से विधानसभा पहुंचे थे। जिस पर तंज कसते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कमलनाथ (kamalnath)  से आग्रह है कि अपने विधायकों का मेडिकल परीक्षण अवश्य करवा लिया करें। क्योंकि ऐसे कार्यक्रम में शारीरिक परिश्रम की आवश्यकता पड़ती है।

साथ ही नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि सदन को कांग्रेस नेताओं की चिंता है और कल जिस तरह के दृश्य उभर कर सामने आए। वह चिंता का कारण है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि नेताओं से अपील है कि स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए आंदोलन का ऐलान किया जाए।

Read More: SCAM: मेडिकल के छात्र को मिल रही 8वीं की छात्रवृत्ति, कलेक्टर ने दिए जांच के आदेश

कमलनाथ पर नरोत्तम का तंज

वही ट्विटर पर कांग्रेस ने अपने 8 लाख फॉलोवर्स पूरे कर लिए हैं जिस पर बोलते हुए गृह मंत्री ने हमेशा ने कहा कि कांग्रेस अब ट्विटर और पेपर की पार्टी बनकर ही रह गई है। इधर सदन के पहले ही दिन की कार्रवाई पूरी होने के बाद पीसीसी चीफ कमलनाथ ने कहा था कि उन्हें राज्यपाल के अभिभाषण पर दया आती है। जिस पर बयान देते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कमलनाथ की बात उन्हीं की पार्टी के कार्यकर्ता नहीं सुनते हैं। यह राजनीति में उनके लिए एक संकेत है।

विधानसभा में उपाध्यक्ष पद पर बोले नरोत्तम

वहीं विधानसभा में उपाध्यक्ष पद कांग्रेस को मिले जाने के सवाल पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा की जगह 15 महीने की सरकार में आए थे तो सारे नियम उनके द्वारा तोड़े गए। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि वह कतई इस बात के पक्ष में नहीं है कि विधानसभा उपाध्यक्ष का पद कांग्रेस को दिया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here