10, 000 रुपये के लागत में शुरू करें ये 5 बिजनेस, होगी छप्परफाड़ कमाई, बदल जाएगी जिंदगी

Manisha Kumari Pandey
Published on -
Business Ideas

Business Ideas Under 10,000: एक बिजनेस को शुरू करने के लिए प्लानिंग और इनवेस्टमेंट की जरूरत पड़ती है। कुछ लोगों के पास क्रिएटिव माइन्ड और बिजनेस को सफल बनाने की स्किल होती है, लेकिन पैसों की कमी उनके टैलेंट भारी पड़ जाती है। कम निवेश में भी खुद का बिजनेस सेटअप किया जा सकता है। ऐसे ही कुछ बिजनेस आइडिया के बारे में यहाँ बताया गया है, जिसे 10000 रुपये की लागत में शुरू किया जा सकता है।

टिफ़िन सर्विस

कम बजट में शुरू करने के लिए टिफिन सर्विस का बिजनेस बेस्ट ऑप्शन बन सकता है। कई लोग ऐसे हैं जो जॉब में व्यस्त होते हैं, उन्हें खाना बनाने का समय नहीं मिलता। घर से बाहर पढ़ने वाले छात्रों को भी टिफिन सर्विस कि जरूरत पड़ती है। आप अपने घर के रसोई में मौजूद चीजों से ही यह कारोबार शुरू कर सकते हैं और स्वादिष्ट-हेल्दी भोजन बनाकर अलग-अलग लोगों तक पहुंचा कर मुनाफा कमा सकते हैं।

योगा क्लासेस

इन दिनों योगा काफी ट्रेंडिंग है। लोग फिट रहने के लिए योगासन का सहारा लेते हैं। आप घर बैठे ऑनलाइन योगा क्लासेस शुरू कर सकते हैं। इसे शुरू करने में 10 हजार रुपये से भी कम खर्च होता है।

क्लाउड किचन

Cloud Kichen को भी कम बजट में शुरू किया जा सकते हैं। आप अपने घर में ही इसे शुरू कर सकते हैं। इस बिजनेस ऑनलाइन फूड ऑर्डरिंग सिस्टम होता है। इसके लिए टेबल-चैयर या अन्य डाइनिंग कि जरूरत नहीं पड़ती।

हर्बल बॉडी और स्किनकेयर प्रोडक्ट्स

यदि आपको शरीर और त्वचा से जुड़े हर्ब्स और ऑयल का अच्छा ज्ञान है तो यह बिजनेस आपके लिए बेस्ट ऑप्शन बन सकता है। आप कम निवेश में घर पर ही स्किनकेयर और बॉडीकेयर प्रॉडक्ट्स बनाकर बेच सकते हैं। अच्छे से चलने पर यह आपको लाखों का मुनाफा दिला सकता है।

मसालों का बिजनेस

मसाले के बिजनेस को 10 हजार रुपये से कम के बजट में शुरू कर सकते हैं। कई लोग ऐसे हैं, जो घर पर पिसे हुए मसालों का इस्तेमाल करना पसंद करते हैं। आप अपबे प्रॉडक्ट्स को ऑनलाइन या लोकल मार्केट में बेच सकते हैं।

(Disclaimer: इस आलेख का उद्देश्य केवल सामान्य जानकारी साझा करना है। MP Breaking News इन बातों का दावा नहीं करता)

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News