कांग्रेस कार्यकर्ताओ पर दर्ज झूठे मामलों के विरोध में पूर्व CM दिग्विजय सिंह उतरेंगे सड़क पर

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कांग्रेस ने राज्य सरकार पर एकतरफा और राजनीतिक विद्वेष की कार्रवाई के आरोप लगाए हैं। इसके खिलाफ कांग्रेस ने प्रशासनिक अत्याचार प्रतिरोध समिति बनाई है, जो पार्टी कार्यकर्ताओं को कानूनी मदद देगी। समिति के गठन होने के बाद से ही कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर प्रदेश भर में भाजपा द्वारा दर्ज कराए जा रहे झूठे प्रकरणों से निपटने के लिए कांग्रेस कार्ययोजना बनाने में जुटी हुई है।

यह भी पढ़ें…. सरेआम दीवार पर बाथरूम करना युवक को पड़ा भारी, अपर आयुक्त ने लगवाई उठक-बैठक, वीडियो वायरल

उसी बीच राजधानी भोपाल के प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में गुरुवार को कांग्रेस की प्रशासनिक अत्याचार प्रतिरोधक समिति की बैठक समिति के अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में आयोजित की गई। बैठक में कांग्रेस के सभी जिला अध्यक्षों द्वारा कार्यकर्ताओं पर दर्ज किए गए मामलों की भेजी गई सूची को पटल पर रखकर कार्य योजना बनाई गईं। समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह ने बैठक के पूर्व संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि प्रदेश मे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे दर्ज हो रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भाजपा शासनकाल में परेशान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ये लड़ाई अत्याचार और अन्याय के खिलाफ हैं। जिनके खिलाफ झूठे मुकदमे दर्ज करवाए गए उनकी लड़ाई कांग्रेस पार्टी लड़ेगी। उन्होंने कहा कि पीसीसी चीफ कमलनाथ को धन्यवाद दूंगा जिन्होंने ये कमेटी बनाई हैं।

यह भी पढ़ें…. इंदौर से सटे पीथमपुर में भरी गर्मी में भीषण आग, आग बुझाने के प्रयास जारी

बैठक में शामिल होने आए पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सरकार पर आरोप लगते हुए कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को जान बूझकर परेशान किया जा रहा है और अब कांग्रेस ये लड़ाई अत्याचार और अन्याय के खिलाफ लड़ेगी, जिनके खिलाफ झूठे मुकदमे दर्ज करवाए गए उनकी लड़ाई कांग्रेस पार्टी लड़ेगी, उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ पक्षपात हो रहा है, दिग्विजय सिंह ने प्रशासनिक अधिकारियों पर बड़ा आरोप लगाया, उन्होंने कहा सरकारी अधिकारी और पुलिस मिलकर फर्जी एफआईआर दर्ज करवा रहे हैं, हम इस सबकी शिकायत जे पी नड्डा से करेगें, सबसे ज्यादा दतिया जिले में Fir दर्ज की गई है, करीब 50 से ज्यादा मामले दर्ज किए गए है, कांग्रेस के ब्राह्मण कार्यकर्ताओं को दतिया जेल में सीवेज का पानी पिलाया गया, जिसके बाद बैठक में तय किया गया है, कि इन मुद्दों को लेकर मुख्यमंत्री से मुलाकात करेंगे,सबसे पहले दतिया जिले के प्रकरण तैयार करेंगे, जैसा कि दतिया के पूर्व विधायक राजेंद्र भारती समेत पूरे परिवार पर फर्जी एफआईआर दर्ज की गई है, अलग-अलग जिलों मीटिंग करेंगे, जमीन की लड़ाई लड़ेंगे, अब ये लड़ाई कार्यकर्ताओं की नहीं पूरे मध्यप्रदेश कांग्रेस के रहेगी, बैठक में यह फैसला लिया गया है, कि सबसे पहला आंदोलन इसको लेकर दतिया में होगा।